यूपी बोर्ड मान्यता 2018 लेटेस्ट न्यूज : यूपी बोर्ड नए सत्र में माध्यमिक कॉलेजों को मिलेगी मान्यता, शासन 31 मार्च तक लगाएगा मुहर - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad
  • basic shiksha news updatemarts :

    Tuesday, 27 March 2018

    यूपी बोर्ड मान्यता 2018 लेटेस्ट न्यूज : यूपी बोर्ड नए सत्र में माध्यमिक कॉलेजों को मिलेगी मान्यता, शासन 31 मार्च तक लगाएगा मुहर

    यूपी बोर्ड मान्यता 2018 लेटेस्ट न्यूज : यूपी बोर्ड नए सत्र में माध्यमिक कॉलेजों को मिलेगी मान्यता, शासन 31 मार्च तक लगाएगा मुहर

    नए शैक्षिक सत्र में बड़ी संख्या में माध्यमिक कालेज संचालित होंगे। में सोमवार को मान्यता समिति की बैठक शुरू हो गई है। पहले दिन मेरठ क्षेत्रीय कार्यालय के करीब 800 प्रकरण निस्तारित हुए हैं, वहीं इलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय से आवेदन अधिक होने से मंगलवार को भी मंथन होगा। इसके बाद वाराणसी, गोरखपुर व बरेली क्षेत्रीय कार्यालय क्षेत्र के आवेदनों पर विचार होगा।

    में इस बार कालेजों को नई मान्यता, नए विषय व संकाय खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन लिए गए थे। इसके लिए पांचों क्षेत्रीय कार्यालयों से बड़ी संख्या में आवेदन हुए। माध्यमिक शिक्षा परिषद में सदस्यों का मनोनयन न होने से पहले महीनों तक परिषद गठन का इंतजार होता रहा। शासन के निर्देश पर पदेन सदस्यों से ही मान्यता प्रकरण निस्तारण का आदेश हुआ, ऐसे में पहले 22 मार्च से बैठक की तैयारी हुई लेकिन, बाद में उसे टाल दिया गया। कहा गया कि नए सत्र में ही बैठक करके निर्णय लेंगे, लेकिन यह मामला न्यायालय जाने पर फंसने से 26 मार्च से तीन दिनी बैठक करके मान्यता देने के निर्देश हुए। उसी के तहत मुख्यालय पर मेरठ व इलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय के प्रकरणों से शुरुआत हुई। इसमें मेरठ कार्यालय के करीब 800 प्रकरणों का निस्तारण हुआ है।

    इलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय की फेहरिश्त लंबी होने से अब तक आधे प्रकरण ही निस्तारित हो पाए हैं, मंगलवार को शेष मामलों पर मंथन होगा। इसके बाद अन्य तीनों क्षेत्रीय कार्यालयों की बारी आएगी। शासन 31 मार्च की रात्रि तक इस पर मुहर लगाएगा, ताकि नए सत्र से नए कालेज संचालित हो, पुराने कालेजों में नए विषय व संकाय खुल सकें। पहले दिन मेरठ क्षेत्रीय कार्यालय के करीब 800 प्रकरण निस्तारितइलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय के आवेदनोंकी छानबीन मंगलवार को भी