उत्तर प्रदेश अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालय प्रबंध महासभा की विचार गोष्ठी : प्रबधंक और प्रधानाचार्य ईमानदारी से करें काम, - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad up
  • primary ka master basic shiksha news :

    सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2019 आवेदन करें

    69000 सहायक अध्यापक भर्ती 2019 हेतु ऑनलाइन आवेदन करने हेतु क्लिक करें ।

    Monday, 16 April 2018

    उत्तर प्रदेश अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालय प्रबंध महासभा की विचार गोष्ठी : प्रबधंक और प्रधानाचार्य ईमानदारी से करें काम,

    उत्तर प्रदेश अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालय प्रबंध महासभा की विचार गोष्ठी : प्रबधंक और प्रधानाचार्य ईमानदारी से करें काम,

    इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालय प्रबंध महासभा की विचार गोष्ठी रविवार को केपी गल्र्स इंटर कॉलेज में आयोजित की गई। प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा की समस्याएं एवं चुनौतियां तथा समाधान शीर्षक इस कार्यक्रम में माध्यमिक विद्यालयों के प्रबंधकों ने विचार रखे। इसमें मुख्य रूप से वक्ताओं ने शिक्षक भर्ती की विसंगतियों पर प्रकाश डाला गया। 1ईश्वरदीन छेदी लाल इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य शशिकांत मिश्र ने कहा कि प्रबंधक और प्रधानाचार्य एक सिक्के के दो पहलू हैं। यदि सभी अपना अपना काम ईमानदारी से करें तो देश में शिक्षा का स्तर काफी हद तक आगे बढ़ जाएगा। प्रबंधकों ने कहा कि वर्तमान में शिक्षकों की चयन प्रक्रिया में काफी विसंगतियां हैं। चयन बोर्ड का गठन राजनैतिक प्रभाव से प्रेरित होता है। चयन प्रक्रिया में धांधली दूर करने के लिए चयन के अधिनियम में संशोधन होना चाहिए। बोर्ड के गठन के 35 वर्ष से वही नियम चल रहे हैं। प्रबंधकों ने यह भी सुझाव दिया कि शिक्षक भर्ती के लिए बोर्ड वर्ष में केवल एक बार परीक्षा का आयोजन करे। कार्यक्रम की अध्यक्षता सीएवी इंटर कॉलेज के प्रबंधक हनुमान प्रसाद उपाध्याय ने की। कार्यक्रम में प्रदेश प्रबंधक महासभा के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल, प्रांतीय कार्यकारी अध्यक्ष अरविंद कुमार के अतिरिक्त कर्नलगंज इंटर कॉलेज के प्रबंधक प्रो. महेश चंद्र चटोपाध्याय, लाला राम इंटर कॉलेज सिरसा के प्रबंधक ओमकार नाथ अग्रवाल, जनता इंटर कालेज मऊअइमा के प्रबंधक इंदुभाल त्रिपाठी, महबूब अली इंटर कॉलेज के प्रबंधक सैयद इरफान अली एवं डा. कृष्ण चंद्रा, श्रीकृष्ण मोहन, केके श्रीवस्तव, आरएस बेदी और आइवी जफर आदि रहे।