68500 शिक्षक भर्ती 2018 : शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा की उत्तरमाला में सवालों पर आपत्तियों की भरमार,छह से आठ प्रश्नों का उत्तर बदलने के लिए तमाम ने दिए साक्ष्य : शिक्षामित्रों को एससीईआरटी से मिली पाठ्य सामग्री को भी बनाया आधार - Primary Ka Master || UPTET, Basic Shiksha News, TET, UPTET News
  • primary ka master

    PRIMARY KA MASTER- UPTET, BASIC SHIKSHA NEWS, UPTET NEWS LATEST NEWS


    Sunday, 10 June 2018

    68500 शिक्षक भर्ती 2018 : शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा की उत्तरमाला में सवालों पर आपत्तियों की भरमार,छह से आठ प्रश्नों का उत्तर बदलने के लिए तमाम ने दिए साक्ष्य : शिक्षामित्रों को एससीईआरटी से मिली पाठ्य सामग्री को भी बनाया आधार

    68500 शिक्षक भर्ती 2018 : शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा की उत्तरमाला में सवालों पर आपत्तियों की भरमार,छह से आठ प्रश्नों का उत्तर बदलने के लिए तमाम ने दिए साक्ष्य : शिक्षामित्रों को एससीईआरटी से मिली पाठ्य सामग्री को भी बनाया आधार

    इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों की 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा में पूछे गए सवालों पर बड़ी संख्या में आपत्तियां हुई हैं। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने उत्तरकुंजी जारी करने में जिस तरह कई प्रश्नों के कई उत्तरों को सही माना है, वह दांव भी आपत्तियों की संख्या कम नहीं कर सका है। अभ्यर्थियों ने तय पुस्तकों के अलावा शिक्षामित्रों की तैयारी के लिए एससीईआरटी से दी गई पाठ्य सामग्री तक को आधार बनाया है, जिसे खारिज करना आसान नहीं होगा।
    लिखित परीक्षा 27 मई को हुई थी। उत्तर कुंजी छह जून को वेबसाइट पर जारी की गई और नौ जून की शाम छह बजे तक आपत्तियां मांगी गई। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने उत्तर कुंजी जारी करते समय ही तमाम प्रश्नों के कई जवाब देकर अभ्यर्थियों को राहत दी। साथ ही आपत्तियों के लिए साक्ष्य किन पुस्तकों का होगा यह दायरा भी तय किया। अभ्यर्थी इससे भी आगे निकल गए हैं। वह तय पुस्तकों के अलावा शिक्षामित्रों को तैयारी के लिए दी गई एससीईआरटी की पाठ्य सामग्री से भी साक्ष्य दिए हैं। ‘डी’ सीरीज के प्रश्नपत्र का 25वां सवाल गन्ना उत्पादन में देश का कौन सा राज्य प्रथम स्थान पर है? उत्तरकुंजी में उत्तर प्रदेश दर्ज है, वहीं अभ्यर्थी महाराष्ट्र होने का दावा कर रहे हैं। ऐसे ही सुखार्थ में परीक्षा नियामक ने वृद्धि संधि मानी है, जबकि अभ्यर्थियों ने माध्यमिक शिक्षा परिषद की किताब का साक्ष्य देकर दीर्घ संधि होने का दावा किया है। सबसे रोचक सवाल छात्रों को सामूहिक रूप से प्रतिभागी कैसे बनाया जा सकता है का जवाब उत्तरकुंजी में विचार-विमर्श दर्ज है, जबकि अभ्यर्थियों ने इसके लिए खेल का साक्ष्य दिया है। यह बात शिक्षामित्रों को एससीईआरटी से मिली पाठ्य सामग्री में लिखी है। इसी तरह से हाथ में चक्र धारण करने वाले का जवाब चक्रपाणि माना गया है, जबकि अभ्यर्थी चक्रधारी होने का दावा कर रहे हैं।
    मंदबुद्धि का स्तर क्या है? इसका जवाब 81 से 90 व 80 से 89 माना गया है, जबकि कई अभ्यर्थियों ने लिखा है कि 90 से कम। अब परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव को यह तय करना होगा कि इन साक्ष्य व उत्तरों को माना जाए या नहीं। सूत्रों की मानें तो संशोधित उत्तर कुंजी 18 जून को जारी करने की तैयारी है, ताकि 30 जुलाई को परीक्षा परिणाम घोषित किया जा सके।’