टेकवर्ल्ड : वीडियो से आसान होगी परिषदीय बच्चों की पढ़ाई, बेसिक की नई किताबों पर क्यूआर कोड : शिक्षक मोबाइल एप्लीकेशन की सहायता से कोड कर सकते हैं स्कैन - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad up
  • primary ka master basic shiksha news :

    सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2019 आवेदन करें

    69000 सहायक अध्यापक भर्ती 2019 हेतु ऑनलाइन आवेदन करने हेतु क्लिक करें ।

    Saturday, 30 June 2018

    टेकवर्ल्ड : वीडियो से आसान होगी परिषदीय बच्चों की पढ़ाई, बेसिक की नई किताबों पर क्यूआर कोड : शिक्षक मोबाइल एप्लीकेशन की सहायता से कोड कर सकते हैं स्कैन

    टेकवर्ल्ड : वीडियो से आसान होगी परिषदीय बच्चों की पढ़ाई, बेसिक की नई किताबों पर क्यूआर कोड : शिक्षक मोबाइल एप्लीकेशन की सहायता से कोड कर सकते हैं स्कैन

    गोरखपुर : बेसिक परिषद में इस साल आई नई किताबों पर छपे क्यू आर (क्विक रिस्पांस) कोड पाठ की समझ आसान बनाएंगे। हाल ही में क्यू आर कोड को सक्रिय कर दिया गया है। मोबाइल एप्लीकेशन की सहायता से कोड को स्कैन करते ही पाठ से संबंधित सामग्री वीडियो के रूप में मिल जाएगी। यह वीडियो काटरून के रूप में बनाए गए हैं, जो बच्चों को समझ आ जाएंगे।1एनसीइआरटी की किताबों की तर्ज पर हर पाठ के शुरुआत में क्यू आर कोड छापा गया है। इस कोड को मोबाइल एप्लीकेशन की सहायता से स्कैन कर सकते हैं। नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन द्वारा विकसित दीक्षा-नेशनल टीचर्स प्लेटफार्म फॉर इंडिया एप्लीकेशन द्वारा सहूलियत से इसे क्यूआर कोड को स्कैन किया जा सकता है। इसी की वेबसाइट पर पाठ्य सामग्री उपलब्ध है। अन्य मोबाइल एप्लीकेशन भी कोड को स्कैन तो करेंगे लेकिन दीक्षा के जरिये ही संबंधित पाठ्य सामग्री मिलेगी।1कहानी के रूप में होगी वीडियो व ऑडियो : क्यू आर कोड को स्कैन करते ही पाठ से संबंधित कई वीडियो व ऑडियो मिलेंगे। ये कहानी के रूप में पूरे घटनाक्रम को बयां करेंगे। जिनमें वीडियो के पात्र नहीं नजर आएंगे, उनमें वीडियो संबंधित घटना से जुड़े चित्रों के माध्यम से बनाया गया होगा और उसकी कहानी समझाने के लिए अलग-अलग पात्रों की आवाज उसमें डाली गई है।
    बच्चों के साथ शिक्षकों के लिए भी होगा कारगर : यह बच्चों के साथ शिक्षकों के लिए भी कारगर होगा। शिक्षक इसकी सहायता से पाठ को बेहतर तरीके से बच्चों को समझा सकेंगे। जिन विद्यालयों में स्मार्ट क्लास की व्यवस्था होगी, वहां के लिए यह सुविधा काफी बेहतर साबित होगी।