निर्वाचन साक्षरता क्लब : Primary Ka Masterस्कूलों में गठित होगा निर्वाचन साक्षरता क्लब, मतदान प्रतिशत बढ़ाने को केंद्रों के पास लगाई जाएगी पाठशाला, प्रशिक्षण के लिए हुई कार्यशाला

इलाहाबाद : लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियों में जुटे चुनाव आयोग युवाओं में भी पहुंच बनाएगा। स्कूल-कालेजों में भी निर्वाचन साक्षरता क्लब का गठन किया जाएगा। इस क्लब को मतदान फीसद बढ़ाने की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।
जिला स्तरीय निर्वाचन साक्षरता क्लब के सदस्यों, स्कूल-कॉलेज के प्रधानाचार्य, एनएसएस,एनसीसी, भारत स्काउट एंड गाइड तथा नेहरू युवा केंद्र के प्रतिनिधियों की कार्यशाला के दूसरे दिन हर हाल में मतदान फीसद बढ़ाने के लिए खेल-खेल में महत्वपूर्ण टिप्स दिए गए। संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी रमेश चंद्र राय ने बताया कि निर्वाचन साक्षरता को बढ़ावा देने के लिए पूरे देश में निर्वाचन साक्षरता क्लब बनाए जा रहे हैं। जिलों में भी निर्वाचन साक्षरता क्लब (इलेक्ट्रोरल लिट्रेसी क्लब) गठित किया गया है। अब ये क्लब कॉलेजों में बनाए जाएंगे। ये क्लब उन नए मतदाताओं (18 से 21 वर्ष) को ध्यान में रखकर बनाए जा रहे हैं, जो ग्रेजुएशन कर रहे हैं। निर्वाचन साक्षरता का मुख्य उद्देश्य मतदाता पंजीकरण, चुनाव प्रक्रिया, ईवीएम व वीवीपैट के प्रयोग को बताना। वोट के महत्व एवं मतदान के अधिकार को बताना। क्लब का संचालन एक चुने समूह द्वारा होगा। समूह निर्वाचन साक्षरता क्लब के विद्यार्थी सदस्यों में से चुना जाएगा। इसमें हर कक्षा के चुने प्रतिनिधि शामिल होंगे। चुने हुए प्रतिनिधि अपने में से ही एक अध्यक्ष और एक उपाध्यक्ष का चुनाव करेंगे। समूह प्रासंगिक विषय सामग्री को नियमित रूप से फेसबुक पेज पर और वाट्सएप ग्रुप व यूट्यूब चैनलों पर देगा। क्लब के फेसबुक और यूट्यूब प्रोफाइल को भारत निर्वाचन आयोग के फेसबुक पेज और आधिकारिक यूट्यूब चैनल से जोड़ा जाएगा। निर्वाचन साक्षरता के संदेशों को मनोरंजक, कल्पनाशील और रोचक ढंग से बनाकर लोगों तक पहुंचाने के लिए कॉलेज के किसी मुख्य हिस्से की दीवार का इस्तेमाल होगा। इसे लोकतंत्र की दीवार कहा जाए।

◆ चुनाव पाठशाला भी लगेगी
चुनाव पाठशाला मतदान केंद्र के स्तर पर बनेगी। इसमें उन युवाओं का खास ध्यान दिया जाएगा, जिन्होंने बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी है। बीएलओ जगह का इंतजाम करेंगे, जहां पर चुनाव पाठशाला चलाई जा सके। सदस्यों का नामांकन बूथ जागरूकता समूह (बीएजी) और सरकारी कर्मचारियों के की मदद से किया जाएगा। चुनाव पाठशाला हर दो महीने में लगेगी। मतदाता मित्र चुनाव पाठशाला के उन सदस्यों में से चुना जाएगा, जो पाठशाला के सभी 6 सत्रों में शामिल हुए हों। मतदाता मित्र को एक बैज दिया जाएगा। मतदाता मित्रों को डीईओ की ओर से एक प्रमाण-पत्र मिलेगा और अच्छे मतदाता मित्रों को मतदाता दिवस समारोह में सम्मानित किया जाएगा। कार्यशाला में एडीएम प्रशासन विजय शंकर दुबे, केके वाजपेयी, डॉ. मंजू सिंह भी मौजूद रहीं।


 
Top