68500 शिक्षक भर्ती में कैसे जुड़ेगा शिक्षामित्रों का भारांक ? जनरल श्रेणी वाले अवश्य पढ़ें,सोशल मीडिया पर वायरल आलेख पढ़ें - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad up
  • primary ka master basic shiksha news :

    सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2019 आवेदन करें

    69000 सहायक अध्यापक भर्ती 2019 हेतु ऑनलाइन आवेदन करने हेतु क्लिक करें ।

    Thursday, 12 July 2018

    68500 शिक्षक भर्ती में कैसे जुड़ेगा शिक्षामित्रों का भारांक ? जनरल श्रेणी वाले अवश्य पढ़ें,सोशल मीडिया पर वायरल आलेख पढ़ें

    68500 शिक्षक भर्ती में कैसे जुड़ेगा शिक्षामित्रों का भारांक ? जनरल श्रेणी वाले अवश्य पढ़ें,सोशल मीडिया पर वायरल आलेख पढ़ें

    *शिक्षामित्रों का भारांक कैसे जुड़ेगा, जनरल श्रेणी वाले अवश्य पढ़ें - AG*
    .
    .
    1) SM का भारांक कैसे जुड़ेगा इसको लेकर दो मत हैं-
    ● 25 अंक परीक्षा में जुडेंगे।
    ● 25 अंक लास्ट में जुड़ेगा।
    सच क्या है बताते हैं
    .
    .
    2) 09.11.2017 को हुए 20वें संशोधन के अनुसार अपेंडिक्स I को बदला गया है। परिशिष्ट 'क' से ही decide होता है कि गुणांक कैसे कैलकुलेट किया जाएगा।
    .
    .
    3) Appendix I में स्पष्ट है कि लिखित परीक्षा में आये मार्क्स में शिक्षामित्रों के 25 अंक नहीं जुड़ेंगे। यदि कोई व्यक्ति/नेता कहता है कि 25 भारांक परीक्षा में जुड़ेगा तो ऐसे महाज्ञानियों को दूर से जय श्री राम कहकर कट लीजिये।
    .
    .
    4) गुणांक निर्धारण में भारांक बिल्कुल अलग से जुड़ेगा परीक्षा में 25 अंक नहीं जोड़े जाएंगे। 
    .
    .
    5) अब ये भारांक सबको पछाड़ देगा जिसका सबसे अधिक नुकसान यदि किसी को होगा तो वो है जनरल श्रेणी।
    .
    .
    6) यदि कोई शिक्षामित्र 10 वर्ष से कार्यरत है तो 2.5/year के अनुसार उसको 25 भारांक दिया जाएगा यानी infer करें तो उसे परीक्षा में 62.5 अंक सरकार द्वारा दिये जा रहे हैं।
    .
    25 भारांक  × 100 × 150 
    ----------------------------------    =  62.5
    (        60    ×   100       )
    .
    .
    7) अब मान लीजिए कि तेज प्रकाश पाठक केस में शीर्ष कोर्ट कह देती है कि नियोक्ता नियुक्ति देने से पहले जब चाहे तब नियम बदल सकता है और नई कटऑफ यानी 45/49 ही बनी रहती है तो ऐसे में एससी शिक्षामित्र केवल परीक्षा पास करने पर 45 + 62 = 107 अंक से कम अंक अर्जित करने वाले रेगुलर btcian से आगे हो जाएगा इसी प्रकार ओबीसी और जनरल SM 49 अंक लाने पर 49 + 62 = 111 अंक से नीचे वालो को पछाड़ देगा।
    .
    .
    8) अब सवाल यह उठता है कि इस भारांक को कैसे कम करवाया जा सकता है तो उसके दो रास्ते हैं पर दोनों ही अनिश्चित हैं।
    .
    .
    9) पहला है आंदोलन, धरना। एक लाख लोगों में 50 हजार btcian होंगे ही यदि ये 50000 btcian एक जुट होकर अपनी बात जनप्रतिनिधियों तक पहुंचाते और बोलते भारांक हटाओ नहीं तो वोट नहीं तो सफलता मिल सकती थी। btc में इतना दम नहीं था अब समय निकल चुका है इसलिए ये विकल्प तो सोचना भी अपने आप को धोखा देना है।
    .
    .
    10) दूसरा है कोर्ट। अनुभव के आधार पर भारांक को लेकर कई कोर्ट्स के विभिन्न मत है। कुछ कहते हैं कि भारांक आर्टिकल 14, 16 का violation है वहीं कुछ कहती हैं कि 20% अधिकतम भारांक दिया जा सकता है। यहां शिक्षामित्रों को 25% दिया जा रहा है।
    .
    .
    11) हमारा अपना मत है कि हाइकोर्ट तो भारांक को 25 जुलाई 2017 के आदेश के चलते छेड़ेगी नहीं लेकिन सुप्रीम कोर्ट से यह 1.5/year या 2/year करवाया जा सकता है। यह इस बात पर निर्भर करेगा कि बेंच कोनसी है।
    .
    .
    12) पिसना जनरल ही है क्योंकि आरक्षण रोस्टर के चलते पहले सभी अनारक्षित पद भरे जाएंगे यदि 30,825 शिक्षामित्र पास हो जाते हैं तो 111 अंक से अधिक लाने वाला जनरल ही फाइट में रहेगा।
    .
    .
    13) जो जनरल कह रहे हैं ओबीसी एससी वाले अपनी ही कैटेगरी में लिए जाएंगे ऐसे जनरल वालो को परमात्मा सदबुद्धि दे। इस सम्बंध में हम कई पोस्ट कर चुके है जिसे मूर्ख बने रहना है उसका कोई क्या कर सकता है।
    .
    ~AG