विज्ञान प्रदर्शनी से जुड़ी खबर - विज्ञान के लिए अब हर जिले को 94 हजार रुपये, बच्चों में विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए जमीनी स्तर पर पहल, तीन स्तरों पर लगेगी प्रदर्शनी - Primary Ka Master || UPTET, Basic Shiksha News, TET, UPTET News
  • primary ka master

    PRIMARY KA MASTER- UPTET, BASIC SHIKSHA NEWS, UPTET NEWS LATEST NEWS


    Saturday, 20 October 2018

    विज्ञान प्रदर्शनी से जुड़ी खबर - विज्ञान के लिए अब हर जिले को 94 हजार रुपये, बच्चों में विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए जमीनी स्तर पर पहल, तीन स्तरों पर लगेगी प्रदर्शनी

    विज्ञान प्रदर्शनी से जुड़ी खबर - विज्ञान के लिए अब हर जिले को 94 हजार रुपये, बच्चों में विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए जमीनी स्तर पर पहल, तीन स्तरों पर लगेगी प्रदर्शनी


    जागरण संवाददाता, लखनऊ : सरकार ने बच्चों में विज्ञान की ललक जगाने के लिए जमीनी स्तर पर कार्य शुरू कर दिया। ऐसे में समग्र शिक्षा अभियान के तहत पहली बार विज्ञान प्रदर्शनी के लिए हर जनपद को 94 हजार रुपये जारी हुए है।
    दरअसल, हाल में ही राजधानी में इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल का आयोजन किया गया था। इसमें विभिन्न गांवों के पांच हजार के करीब बच्चे शामिल हुए थे। वहीं बच्चों में विज्ञान की सोच को विस्तार देने के लिए अब जनपद स्तरीय प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। मंडलीय विज्ञान प्रगति अधिकारी डॉ. दिनेश कुमार के मुताबिक पहली बार विज्ञान प्रदर्शनी के लिए सरकार ने बजट जारी किया है। इसके लिए हर जनपद को 94 हजार रुपये मिलेंगे। प्रदर्शनी में सरकारी, सहायता प्राप्त व वित्तविहीन स्कूल के बच्चे भाग ले सकेंगे। वहीं मॉडल तय करने के लिए स्कूल विज्ञान प्रगति अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं।
    प्रदर्शनी का उद्देश्य : ल्लछात्रों को विज्ञान, गणित व प्रौद्योगिकी में नवाचार के लिए प्रोत्साहित करना।
    ल्लवैज्ञानिक चेतना विकसित कर प्रतिभा का गर्वबोध कराना।
    ल्लआसपास की समस्या को सुलझाने वाली तकनीक को विकसित करने पर जोर देना। ल्लसाधारण उपकरणों के माध्यम से मॉडल्स को तैयार करने के लिए प्रेरित करना।
    तीन स्तर पर होगी प्रदर्शनी
    ल्लविद्यालय स्तर : 25 अक्टूबर से 6 नवंबर तक। ल्लजनपद स्तर : 12 से 14 नवंबर तक। ल्लराज्य स्तर : दिसंबर में होगी प्रदर्शनी, तिथि तय नहीं।
    >>बच्चों में विज्ञान की रुचि बढ़ाने के लिए जमीनी स्तर पर पहल
    >>तीन स्तरों पर लगेगी प्रदर्शनी, बेहतर मॉडल होंगे पुरस्कृत