पुरानी पेंशन बहाली के लिए होने वाली तीन दिवसीय महा हड़ताल स्थगित,सीएम योगी से मुलाकात व आश्वासन के बाद बनी सहमति,शाम तक हो सकती है आधिकारिक घोषणा, - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad
  • basic shiksha news updatemarts :

    Wednesday, 24 October 2018

    पुरानी पेंशन बहाली के लिए होने वाली तीन दिवसीय महा हड़ताल स्थगित,सीएम योगी से मुलाकात व आश्वासन के बाद बनी सहमति,शाम तक हो सकती है आधिकारिक घोषणा,

    पुरानी पेंशन बहाली के लिए होने वाली तीन दिवसीय महा हड़ताल स्थगित,सीएम योगी से मुलाकात व आश्वासन के बाद बनी सहमति,शाम तक हो सकती है आधिकारिक घोषणा,

    कर्मचारी- शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से मिले को मुख्यमंत्री। एक विशेष समिति का गठन कर, दो महीने में मांगी रिपोर्ट।


    लखनऊ(जेएनएन)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता के बाद राज्य कर्मचारियों की पुरानी पेंशन योजना की बहाली को लेकर 25 से प्रस्तावित हड़ताल स्थगित हो गई है। दोपहर दो बजे से कर्मचारी संगठनों की कार्यकारिणी बैठक के बाद शाम पांच बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कर्मचारी नेता इसकी घोषणा करेंगे। मुख्यमंत्री से वार्ता में एक विशेष समिति का गठन तय हुआ है, जो दो महीने में रिपोर्ट देगी। समिति में केंद्र सरकार के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की बुधवार को लखनऊ में मौजूदगी के कारण मुख्यमंत्री ने दिन शुरू होते ही सुबह-सुबह इस मामले को निपटाया। शासन से सुबह छह बजे संदेशवाहक भेज कर बुलाये गए कर्मचारी नेताओं ने वार्ता पर संतोष जताया है।

    मंच के संयोजक हरिकिशोर तिवारी ने बताया कि बुधवार को फिर शासन के वरिष्ठ अधिकारियों से हड़ताल को लेकर वार्ता हुई है। मुख्यमंत्री से वार्ता में एक विशेष समिति का गठन तय हुआ है, जो दो महीने में रिपोर्ट देगी। समिति में केंद्र सरकार के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। कर्मचारी नेताओं का मानना है कि पुरानी पेंशन को लेकर मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद अब जल्‍द ही कुछ समाधान निकल सकता है। 

    पुरानी पेंशन बहाली के लिए होने वाली तीन दिवसीय महा हड़ताल स्थगित,सीएम योगी से मुलाकात व आश्वासन के बाद बनी सहमति,शाम तक हो सकती है आधिकारिक घोषणा,

    ● पूर्व मुख्य सचिव ने किया था समर्थन
    प्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव, राज्यसभा के पूर्व महासचिव और संयुक्त पेंशनर्स समन्वय समिति के संरक्षक योगेंद्र नारायण ने भी हड़ताल का समर्थन किया था। उनका कहना था कि पेंशन किसी सेवायोजक द्वारा दी जाने वाली खैरात नहीं, बल्कि कर्मचारी का अधिकार है।

    पुरानी पेंशन बहाली के लिए होने वाली तीन दिवसीय महा हड़ताल स्थगित,सीएम योगी से मुलाकात व आश्वासन के बाद बनी सहमति,शाम तक हो सकती है आधिकारिक घोषणा,

    ● 120 तहसीलों में हुआ जन जागरण

    हड़ताल की तैयारी के लिए मंगलवार को लखनऊ के मोहनलालगंज व सरोजनीनगर सहित प्रदेश की 120 तहसीलों में जनजागरण अभियान चलाया गया, जबकि बुधवार को राजधानी सहित सभी जिलों में मोटरसाइकिल रैली निकालने की योजना बनाई गई है। पुरानी पेंशन बहाली मंच के पदाधिकारियों ने मंगलवार को सभी जिला इकाइयों से संपर्क करने के बाद हड़ताल की मजबूत तैयारी का दावा किया।

    ● सचिवालय के कर्मचारी व अधिकारी भी होंगे मोर्चे में शामिल 
    राज्य सरकार की कोर मशीनरी कहे जाने वाले सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों के भी इस हड़ताल में शामिल होने के एलान से संकट और गहराया है।

    सचिवालय संघ द्वारा मंगलवार को बुलाई गई सचिवालय के सभी संगठनों की बैठक में हड़ताल में शामिल होने का निर्णय लिया गया। संघ के अध्यक्ष यादवेंद्र मिश्र ने बताया कि सभी संगठनों ने कर्मचारी, शिक्षक व अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के आंदोलन को समर्थन देने का निर्णय लिया है। इसके लिए सभी संगठनों ने मिलकर समन्वय समिति का गठन किया है। मंगलवार को बैठक में तय हुआ था कि हड़ताल को सफल बनाने की रणनीति निर्धारित करने के लिए बुधवार दोपहर सभी संगठनों की आम सभा बुलाई जाएगी।

    🌐खबर के मूल स्रोत लिंक पर जाने के लिए क्लिक करें