69,000 शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन कल से शुरू, नई वेबसाइट पर होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, इसके लिए एनआईसी ने अलग से वेबसाइट (atrexam.upsdc.gov.in) तैयार की है - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad
  • basic shiksha news updatemarts :

    Thursday, 6 December 2018

    69,000 शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन कल से शुरू, नई वेबसाइट पर होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, इसके लिए एनआईसी ने अलग से वेबसाइट (atrexam.upsdc.gov.in) तैयार की है

    69,000 शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन कल से शुरू, नई वेबसाइट पर होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, इसके लिए एनआईसी ने अलग से वेबसाइट (atrexam.upsdc.gov.in) तैयार की है

    उत्तर प्रदेश में 69,000 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा के लिए आवेदन (6 दिसंबर 2018) गुरुवार की दोपहर से शुरू हो जाएंगे। इसके लिए एनआईसी ने अलग से वेबसाइट (atrexam.upsdc.gov.in) तैयार की है। पंजीकरण 20 दिसम्बर तक किये जा सकेंगे। इसकी लिखित परीक्षा 6 जनवरी को होनी है।

    छह दिसंबर से इसके लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे। रजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख 20 दिसंबर होगी। आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तारीख 21 दिसंबर रखी गई है। वहीं आवेदन पूरा करके उसका प्रिंट लेने की अंतिम तारीख 22 दिसंबर है। 23 दिसंबर तक जिला समितियां केंद्र निर्धारण कर देंगी। 31 दिसंबर को प्रवेश पत्र अपलोड करने की सूचना जारी कर दी जाएगी।

    4 जनवरी को उत्तर पुस्तिकाएं जिला मुख्यालयों को भेज दी जाएगी। इन्हें डबल लॉक में रखा जाएगा। वहीं इसकी लिखित परीक्षा छह जनवरी को सुबह 11 से 1.30 बजे तक होगी। इस बार परीक्षा का पैटर्न बदल दिया गया है और इसे ऑप्टिकल मार्क रिकॉग्निशन (ओएमआर) आधारित कर दिया गया है यानी परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। वहीं 8 जनवरी को उत्तरमाला वेबसाइट पर जारी कर दी जाएगी। 11 जनवरी तक इस पर आपत्तियां ली जाएंगी और इसका निस्तारण करते हुए 19 जनवरी को संशोधित उत्तरमाला जारी की जाएगी और 22 जनवरी को परीक्षाफल घोषित किया जाएगा।

    5 लाख से ज्यादा लोग होंगे इसमें शामिल

    इसके बाद ही शिक्षक भर्ती में आवेदन लेकर नियुक्तियां की जाएंगी। इस बार 5 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों के शिक्षक भर्ती में भाग लेने की उम्मीद है, क्योंकि इस बार 3,66,285 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। वहीं पिछली बार लिखित परीक्षा में 1 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी बैठे थे, उसमें भी 60 हजार इसमें सफल नहीं हुए। इसके अलावा बीते वर्षों में टीईटी पास अभ्यर्थी अभी बेरोजगार हैं।