69000 शिक्षक भर्ती हाईकोर्ट ऑर्डर विश्लेषण रिजवान अंसारी टीम की कलम से - Primary Ka Master || UPTET, Basic Shiksha News, TET, UPTET News
  • primary ka master

    PRIMARY KA MASTER- UPTET, BASIC SHIKSHA NEWS, UPTET NEWS LATEST NEWS


    Tuesday, 22 January 2019

    69000 शिक्षक भर्ती हाईकोर्ट ऑर्डर विश्लेषण रिजवान अंसारी टीम की कलम से

    69000 शिक्षक भर्ती हाईकोर्ट ऑर्डर विश्लेषण रिजवान अंसारी टीम की कलम से


    *✔ऑर्डर विश्लेषण: उत्तीर्ण अंक 69000 शिक्षक भर्ती याचिका*

    Dated: 21 Jan. 2019
    *®Team Rizwan Ansari*

    आज 69000 शिक्षक भर्ती में उत्तीर्ण अंक मुद्दे पर हुई सुनवाई में कोर्ट के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु निम्नवत हैं---

    ```Sri Upendra Nath Mishra, learned counsel for the petitioners 
    submits that he shall file objection to the impleadment 
    application within two days and possibly it shall be filed on or 
    before 24.1.2019.```
    【अर्थात कटऑफ के शासनादेश(60 एंड 65) को बचाने वाले लोगो की तरफ से फ़ाइल इम्प्लीडमेन्ट एप्लीकेशन पर उपेंद्र मिश्रा (टीम रिज़वान के अधिवक्ता) 24 जनवरी के पहले एक ऑब्जेक्शन फ़ाइल करेंगे। कोर्ट को बताएंगे कि कैसे उत्तीर्ण अंक/कटऑफ बचाने वाले लोगों की इम्प्लीडमेन्ट एप्पलीकेशन इस केस में मेन्टेनेबल नही है।】

    *इसके तुरंत बाद कोर्ट ने इस ऑब्जेक्शन के सापेक्ष टिपण्णी की---*

    ```Since learned counsel for the petitioners are praying some time 
    to file objection to the impleadment application, therefore, the 
    said impleadment application shall be considered and decided 
    after calling upon the objection from the learned counsel for the 
    petitioners.```
    【अर्थात इस इम्प्लीडमेन्ट एप्लिकेशन पर याची के अधिवक्ता द्वारा दाखिल होने वाले ऑब्जेक्शन पर गौर करने के बाद ही इस इम्प्लीडमेन्ट एप्लीकेशन को कोर्ट द्वारा एक्सेप्ट करने पर विचार किया जाएगा।】

    *मतलब साफ है कटऑफ/उत्तीर्ण अंक बचाने वालों की तरफ से अभी तक फ़ाइल की गई कोई भी इम्प्लीडमेन्ट एपलीकेशन स्वीकार नही की गई। जब तक कोर्ट टीम के ऑब्जेक्शन को नही देख लेती तब तक कोई भी अन्य थर्ड पार्टी नही बन सकते।कहने को कोई कुछ भी कहता रहे।*

    अब जवाब उनके लिए जो चीख रहे थे कि कोर्ट से टीम के अधिवक्ताओं ने समय की मांग की। इसके जवाब में प्रस्तुत है कुछ अंश---

    ```Sri Prashant Chandra, learned Senior Advocate, prays for and is 
    granted four days' time to file counter affidavit. Rejoinder 
    affidavit, if any, may be filed within 24 hours thereafter.```
    【सरकार की तरफ से अपीयर हुए सीनियर वकील श्री प्रकाश चंद्रा ने काउंटर/रेजॉइंडर फ़ाइल करने के लिए 4 दिनों का समय मांगा।】

    *इसी मांग के आलोक में कोर्ट ने मामले को 29 जनवरी तक के लिए एडजर्न किया।*

    इसके बाद कोर्ट ने प्रमुखता से निम्न प्रभावी अंश को लिखा जिस पर 69000 भर्ती की पूरी प्रक्रिया रुक गयी---

    ```List these petitions on 29th January, 2019 for final hearing and 
    they shall be taken up at 10:15 AM sharp as a first case. 
    Till the next date of listing, status quo pursuant to the order 
    dated 17.1.2019 shall be maintained. ```
    【अब इन याचिकाओं को फाइनल हियरिंग के लिए 29 जनवरी को 10:15 पर प्राथमिक तौर पर सुना जाएगा। *तब तक 69000 भर्ती से सम्बंधित सभी प्रक्रियाएं 17 जनवरी के आदेश के अनुक्रम में यथास्थिति (स्थगित) पर रहेंगी।*】

    आशा है भृम फैलाने वालों को इस पोस्ट से सीख मिल गयी होगी। टीम जितना कहती है उससे कहीं ज्यादा करने की कुब्बत रखती है। मिलते हैं 29 जनवरी को खचाखच भरी अदालत में.....!!!

    *★हारा वही जो लड़ा नहीं।।*
    ®टीम रिज़वान अंसारी।।
    (टेट सेवा समिति-उ0प्र0)
                 (रजि0)