69000 शिक्षक भर्ती की उत्तर कुंजी वायरल पर प्रश्नपत्र आउट होने की अफवाह - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad
  • basic shiksha news updatemarts :

    Monday, 7 January 2019

    69000 शिक्षक भर्ती की उत्तर कुंजी वायरल पर प्रश्नपत्र आउट होने की अफवाह

    69000 शिक्षक भर्ती की उत्तर कुंजी वायरल पर प्रश्नपत्र आउट होने की अफवाह


    राज्य ब्यूरो, प्रयागराज : शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा साफ सुथरी होने के सरकारी इंतजामों के बीच नकल माफिया सेंधमारी की कोशिशों से बाज नहीं आए। परीक्षा के दौरान लोगों के मोबाइल फोन पर चारों सीरीज की उत्तर कुंजी वायरल हो जाने से हड़कंप मच गया। अभ्यर्थियों ने प्रश्नपत्र आउट हो जाने का दावा किया है जबकि परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने इसे अफवाह बताया है।
    रविवार को 69000 पदों पर सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा दिन में 11 बजे शुरू हुई। जबकि लोगों के मोबाइल फोन पर उत्तर कुंजी साढ़े ग्यारह के आसपास वायरल होने लगी। दावा किया गया कि यह उत्तर कुंजी दिन में 10:40 बजे ही वायरल हो गई थी। यानी प्रश्नपत्र इससे पहले आउट हो गया। परीक्षा खत्म होने पर केंद्र से बाहर आए अभ्यर्थियों को जैसे-जैसे जानकारी होती गई उनमें नाराजगी भी बढ़ गई। हालांकि सामूहिक रूप से इसका विरोध नहीं हुआ।

    जासं, लखनऊ : चारबाग रेलवे स्टेशन और लखनऊ जंक्शन पर रविवार को अभ्यर्थियों की काफी भीड़ रही। परीक्षा छूटते ही अभ्यर्थियों का जनरल कोच से लेकर एसी कोच तक में कब्जा हो गया। विरोध करने वाले यात्रियों से अभद्रता भी की गई। वहीं, राजकीय रेलवे पुलिस व रेल सुरक्षा बल मूकदर्शक बने रहे।
    रविवार को राजधानी में सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा थी। चारबाग से गुजरने वाली किसान, त्रिवेणी और गंगा गोमती एक्सप्रेस में अभ्यर्थियों ने कब्जा कर लिया। आरक्षित श्रेणी के यात्रियों ने विरोध किया तो कुछ अभ्यर्थी हट गए तो कुछ ने परिवार के साथ सफर कर रहे यात्रियों से अभद्रता भी की। वहीं, यात्रियों द्वारा शिकायत करने के बावजूद वर्दीधारी कोई एक्शन नहीं ले सके। यह हालत तब है, जब जीआरपी व आरपीएफ को राजधानी में परीक्षा की सूचना समय से दे दी गई थी।

    रेल अफसरों ने नहीं किए थे इंतजाम : 

    रेल अधिकारियों ने बताया कि 40 हजार अभ्यर्थियों को परीक्षा में शामिल होना था। रविवार को 39 हजार से अधिक अभ्यर्थियों ने परीक्षा में शिरकत की। इसके बावजूद जीआरपी व आरपीएफ द्वारा ऐसा कोई इंतजाम नहीं किया गया था।