सीबीएसई प्रश्नपत्र में करेगा बड़ा बदलाव, यह हुए अहम बदलाव, पढ़ें - primary ka master | basic shiksha news | updatemarts | uptet news | basic shiksha parishad
  • basic shiksha news updatemarts :

    Wednesday, 3 April 2019

    सीबीएसई प्रश्नपत्र में करेगा बड़ा बदलाव, यह हुए अहम बदलाव, पढ़ें

    सीबीएसई प्रश्नपत्र में करेगा बड़ा बदलाव, यह हुए अहम बदलाव, पढ़ें



    नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शैक्षणिक सत्र 2019-20 से 12वीं की गणित व अंग्रेजी कोर के प्रश्नपत्र में बड़े बदलाव करने का फैसला किया है। दोनों विषयों में अगले साल से 20 अंकों का आतंरिक मूल्यांकन (इंटरनल असेसमेंट) होगा। दोनों के प्रश्नपत्रों में एक-अंक के प्रश्नों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। एक-एक अंक के 20 सवाल पूछे जाएंगे। दोनों विषयों के प्रश्न पत्र 100 की जगह 80 अंक के होंगे। बोर्ड ने सभी संबद्ध स्कूलों को इस संबंध में सूचना दे दी है। वहीं, बोर्ड ने दसवीं व 12वीं के सभी भाषाओं (लैंग्वेज) के विषयों व अन्य विषयों के पाठ्यक्रमों में भी बदलाव किया है। इसकी सूचना वेबसाइट पर दे दी है। स्कूलों से कहा गया है कि वे इसका पालन करें।
    गणित के प्रश्न पत्र में हुए ये बदलाव

    कक्षा 12 के गणित के प्रश्नपत्र में अभी तक एक अंक के 4 सवाल, 2 अंक के 8 सवाल, 4 अंक के 11 सवाल और 6 अंक के 6 सवाल आते थे। यानी 100 नंबर के पेपर में 29 सवाल आते थे, जिन्हें छात्रों को तीन घंटे में हल करना होता था। बोर्ड ने मार्च 2020 से होने वाली परीक्षा के लिए प्रश्नपत्र के प्रारूप को पूरी तरह से बदल दिया है। अब प्रश्नपत्र में एक अंक के 20 सवाल, 2 अंक के 6 सवाल, 4 अंक के 6 सवाल और 6 अंक के 4 सवाल आएंगे। पेपर 80 अंकों का होगा, जिसमें कुल 36 सवाल आएंगे और तीन घंटे का समय मिलेगा। इस बदलाव के तहत एक अंक के सवालों की संख्या 4 से बढ़कर 20 हो गई है।

    अंग्रेजी कोर में पहली बार बहुविकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यू) आएंगे : 12वीं के अंग्रेजी कोर विषय के प्रश्नपत्र में अभी तक भाग-ए (री¨डग कम्प्रीहेंशन) 30 अंक का आता था। अब भाग-ए को 20 अंक का कर दिया गया है, जिसमें दो पाठ्यअंश आएंगे। भाग-बी, एडवांस्ड राइटिंग स्किल्स में कोई परिवर्तन नहीं किया गया।