यूपी लोकसेवा आयोग के दफ्तर में लगे साइन बोर्ड पर लिख दिया 'चिलम', 3 लोग हिरासत में - PRIMARY KA MASTER | UPTET | UPSC | UPPSC | BASIC SHIKSHA NEWS | UPTET NEWS | SHIKSHA MITRA NEWS
  • primary ka master

    primary ka master - education and uptet breaking news


    Friday, 31 May 2019

    यूपी लोकसेवा आयोग के दफ्तर में लगे साइन बोर्ड पर लिख दिया 'चिलम', 3 लोग हिरासत में

    यूपी लोकसेवा आयोग के दफ्तर में लगे साइन बोर्ड पर लिख दिया 'चिलम', 3 लोग हिरासत में

    पीसीएस मेंस की परीक्षा टलने के बाद विवाद जारी है। प्रतियोगी छात्रों के साथ ही बीजेपी के विरोधी दल भी इसे लेकर विरोध में उतर आए हैं। गुरुवार की रात ऐसे ही कुछ युवकों ने प्रयागराज के पॉश इलाके सिविल लाइंस स्थित यूपी लोक सेवा आयोग के दफ्तर के गेट पर चिलम सेवा आयोग लिख दिया।

    ● उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित यूपी लोक सेवा आयोग के कार्यालय के मुख्यगेट पर लगे साइनबोर्ड से छेड़खानी का मामला सामने आया है

    ● गेट के साइनबोर्ड में शब्दों से छेड़छाड़ करके कुछ शरारती तत्वों ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग में 'लोक' की जगह 'चिलम' लिख दिया है

    ● पुलिस ने मामले में 3 लोगों को हिरासत में लिया है, माना जा रहा है कि ये आरोपी समाजवादी पार्टी से जुड़े हुए हैं, आरोपियों से पूछताछ जारी


    प्रयागराज 
    उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित यूपी लोक सेवा आयोग के कार्यालय के मुख्यगेट पर लगे साइनबोर्ड से छेड़खानी का मामला सामने आया है। साइनबोर्ड में शब्दों से छेड़छाड़ करके उत्तर प्रदेश लोक सेवा में 'लोक' की जगह 'चिलम' लिखा गया है। शरारती तत्वों की इस हरकत के बाद पुलिस ने 3 लोगों को हिरासत में लिया है। माना जा रहा है कि हिरासत में लिए गए आरोपियों का समाजवादी पार्टी (एसपी) से संबंध है। 

    लोक सेवा आयोग की भर्तियों को लेकर एक बार फिर विवाद बढ़ गया है। 10768 एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में पेपर लीक और प्रिंटिंग प्रेस मालिक के साथ ही आयोग की परीक्षा नियंत्रक अंजू लता कटियार की गिरफ्तारी के बाद आयोग निशाने पर है। प्रतियोगी छात्रों के साथ ही बीजेपी के विरोधी दल भी इसे लेकर विरोध में उतर आए हैं। गुरुवार की रात ऐसे ही कुछ युवकों ने प्रयागराज के पॉश इलाके सिविल लाइंस स्थित लोक सेवा आयोग के दफ्तर के गेट पर चिलम सेवा आयोग लिख दिया। इस दौरान पुलिस की नजर उन पर पड़ गई और तीनों को हिरासत में ले लिया। तीनों आरोपी एसपी से जुड़े बताए जा रहे हैं। 

    बता दें कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने भाषणों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिलम मंत्री बताया था। यही नहीं अखिलेश ने अपने आवास में हुई तोड़फोड़ के मामले को लेकर योगी पर हमला बोलते हुए एसपी की सरकार बनने पर सीएम आवास से चिलम ढूंढने की बात कही थी। पेपर लीक मामले को लेकर आयोग ने फिलहाल पीसीएस मेंस परीक्षा भी टाल दी है और आगे भी कुछ परीक्षाएं टलने की संभावना है क्योंकि परीक्षा नियंत्रक की गिरफ्तारी के बाद परीक्षाओं का आयोजन संभव नहीं है। वहीं प्रतियोगी छात्रों के साथ एसपी और अन्य दलों की छात्र इकाई भी सक्रिय हो गई है और आयोग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन व पुतले फूंकने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। 

    17 से 21 जून तक होनी थी परीक्षा 
    पीसीएस-2018 मेंस की परीक्षाएं 17 से 21 जून तक होनी थीं। इस मामले में अभ्यर्थियों ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में अर्जी भी दाखिल की थी। हाई कोर्ट में शुक्रवार को होने वाली सुनवाई से ठीक पहले आयोग ने अचानक मुख्य परीक्षाएं टालने का एलान कर सभी को चौंका दिया है। यूपी पीसीएस 2018 की प्रारंभिक परीक्षा पिछले साल हुई थीं, जिसमे 5 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इसी साल 30 मार्च को प्री परीक्षा के नतीजे घोषित किए गए जिसमें 19608 अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया गया था। 

    primary ka master - education and uptet breaking news