Tet Appear Matter in सुप्रीम कोर्ट: 29000 हो, 72000 हो, 68500 हो 15000 हो , 66000 हो , Btc हो या बीएड हो सबका भविष्य सुप्रीम कोर्ट के आर्डर पर टिका - Primary Ka Master || UPTET, Basic Shiksha News, TET, UPTET News
  • primary ka master

    PRIMARY KA MASTER- UPTET, BASIC SHIKSHA NEWS, UPTET NEWS LATEST NEWS


    Friday, 10 May 2019

    Tet Appear Matter in सुप्रीम कोर्ट: 29000 हो, 72000 हो, 68500 हो 15000 हो , 66000 हो , Btc हो या बीएड हो सबका भविष्य सुप्रीम कोर्ट के आर्डर पर टिका

    Tet Appear Matter in सुप्रीम कोर्ट: 29000 हो, 72000 हो, 68500 हो 15000 हो , 66000 हो , Btc हो या बीएड हो सबका भविष्य सुप्रीम कोर्ट के आर्डर पर टिका



    Tet Appear Matter in सुप्रीम कोर्ट

    25 अप्रैल और 16 जुलाई के बीच 81 दिनों का समय अपने आपको मज़बूत करने के लिए मिला है।

    29000 हो, 72000 हो, 68500 हो 15000 हो , 66000 हो , Btc हो या बीएड हो सबका भविष्य सुप्रीम कोर्ट के आर्डर पर टिका है।

    हाई कोर्ट की डबल बेंच ने स्पष्ट कर दिया कि बीएड या btc का फाइनल रिजल्ट टेट के रिजल्ट से पहले आ जाना चाहिए।
    जिनका भी रिजल्ट टेट के रिजल्ट के बाद आया है वे सब इनवैलिड है।

    बहुत से लोगो के मन मे बहुत से सवाल है कि इसमें हमारी क्या गलती, हमने तो विज्ञापन के नियमो को follow किया। विज्ञापन में ये कहाँ लिखा है कि बीएड Btc का फाइनल रिजल्ट tet के रिजल्ट से पहले आना चाहिए
    तो आपको पता होना चाहिये कि इन्ही सब बातों पर सुप्रीम कोर्ट में बहस होगी और
    जो सुप्रीम कोर्ट का डिसिजन होगा वही फाइनल होगा और वही सब पर लागू होगा और वही सभी को मानना होगा। और यह निर्णय 29000, 72000, 68500, 66000 , 12000, 15000 सब पर लागू होगा

    एक बार सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ गया उसके बाद आप चाहे जितना भी माथा पीटे कुछ नही होगा।

    कुछ लोग बोलेंगे की अगर bed Btc का रिजल्ट देर से आया तो इसमें हमारी क्या गलती है, और ये रिजल्ट वाली बात विज्ञापन में कहां लिखी थी , तो उन सब को यही कहना चाहेंगे कि उनकी सबसे बड़ी गलती है कि जब उन्हें यह पता है कि देश की सबसे बड़ी अदालत में आपके इन्ही सब मुद्दों को लेकर बहस हो रही है, और आप लोग इलाहाबाद हाईकोर्ट से हारे हुए हो और Ncte भी आपके खिलाफ है फिर भी आप लोग घोर उदासीन हो, आपकी उदासीनता का केवल एक ही कारण है कि आप लोग 1000, 500 रुपये खर्च नही करना चाहते थे।
    आप लोग अपनी 50 हजार रुपये की नॉकरी तो दांव पर लगा देंगे लेकिन अपना कोई टॉप मोस्ट सीनियर वकील नही खड़ा करेंगे

    1-Allahabad हाई कोर्ट का डबल बेंच का आर्डर आपके खिलाफ है
    2-Ncte आपके खिलाफ है।
    3-विरोधी हर डेट पर मुस्तैद है।
    4-सुप्रीम कोर्ट का निर्णय ही अंतिम होगा