आखिर up government cm of up प्रथम एनजीओ पर क्यों है मेहरबान और pratham NGO तथा मुकेश अम्बानी के बीच क्या है सम्बन्ध क्लिक कर जाने - प्राइमरी का मास्टर - UPTET | Primary Ka Master | Basic Shiksha News | Shiksha Mitra News
  • primary ka master

    UPTET | PRIMARY KA MASTER | BASIC SHIKSHA NEWS | SHIKSHA MITRA


    Sunday, 29 September 2019

    आखिर up government cm of up प्रथम एनजीओ पर क्यों है मेहरबान और pratham NGO तथा मुकेश अम्बानी के बीच क्या है सम्बन्ध क्लिक कर जाने

    आखिर up government cm of up प्रथम एनजीओ पर क्यों है मेहरबान और pratham NGO तथा मुकेश अम्बानी के बीच क्या है सम्बन्ध क्लिक कर जाने


    प्रथम फाउंडेशन के बारे में जाने -
    प्रथम फाउंडेशन की स्थापना कब हुई ?
    प्रथम फाउंडेशन के मालिक कौन है ?
    प्रथम फाउंडेशन है चेयरमैन का नाम क्या है ?
    प्रथम फाउंडेशन के संस्थापक का नाम क्या है ?
    प्रथम फाउंडेशन के चेयरमैन अजय पिरामिल और मुकेश अम्बानी के बीच क्या सम्बन्ध है ?
    प्रथम फॉउंडेशन किन किन देशों में अपनी पहुच बना चुका है ?
    प्रथम एनजीओ की स्थापना 1994 में मुम्बई में माधव चवण व फरीदा लांबे ने मुम्बई में किया था।
    प्रथम एनजीओ के चेयरमैन अजय जी पिरामल हैं ।



    प्रथम ने आज भारत के 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में हस्तक्षेप किया है और संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी और स्वीडन में अध्यायों का समर्थन कर रहे हैं।
    प्रथम एनजीओ प्राइवेट कंपनी लिमिटेड सेक्शन 8 कम्पनीज एक्ट 2013 के अंतर्गत रजिस्टर्ड है।।
    इसके 12 बोर्ड मेंबर हैं ।
    जो भारत के मशहूर बिजनेसमैन भी हैं। ये मुकेश अम्बानी जी के समधी भी हैं।
    आशा है आपको आखिर सरकार प्रथम एनजीओ पे क्यों है मेहरबान ?  और pratham foundation तथा mukesh ambani के बीच क्या है सम्बन्ध जाने, पोस्ट पसन्द आयी होगी ।
    बेसिक शिक्षा विभाग के ताजा खबरें पढ़ने के लिए Basic Shiksha Parishad news primary ka master hindi में लॉगिन करते रहें ।

    PRIMARY KA MANSTER WEELKY TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER MONTHLY TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER NOTICE

    नोट:-इस वेबसाइट / ब्लॉग की सभी खबरें google search व social media से लीं गयीं हैं । हम पाठकों तक सटीक व विश्वसनीय सूचना/आदेश पहुँचाने की पूरी कोशिश करते हैं । पाठकों से विनम्रतापूर्वक अनुरोध है कि किसी भी ख़बर/आदेश का प्रयोग करने से पहले स्वयं उसकी वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें । इसमें वेबसाइट पब्लिशर की कोई जिम्मेदारी नहीं है । पाठक ख़बरों/आदेशों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा ।