गुरुजी स्कूलों में झाड़ू लगाने को मजबूर, सफाई कर्मचारियों की फौज ,मार रही मौज,Guruji forced to sweep in schools - प्राइमरी का मास्टर - UPTET | Primary Ka Master | Basic Shiksha News | Shiksha Mitra News लॉकडाउन के दौरान पढ़ाई कैसे इस सम्बन्ध में टिप्स : इस समय हमारा देश नावेल कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी से जूझ रहा है । पूरे देश में लॉकडाउन के कारण स्कूल बंद हैं । जिससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है । ऐसे में शिक्षक मोबाइल द्वारा अभिभावकों व बच्चों से बात करें । उन्हें कोरोना वायरस से बचाव के तरीके बताएं ।बच्चों को पढ़ाई के लिए प्रेरित करें । शिक्षा विभाग द्वारा जारी एजुकेशनल ऐप Diksha, E-Pathshala, Nishtha ऐप में डिजिटल पठन पाठन सामग्री है । ये Google Play Store में उपलब्ध हैं । स्मार्टफोन में डाउनलोड कर अभिभावकों से बच्चों को घर पर ही पढ़ाई के लिए प्रेरित करें । यूनिसेफ द्वारा प्रायोजित "मीना की दुनिया" व " फुल ऑन निक्की" रेडियो कार्यक्रम सुनाएं । उनके साथ शैक्षिक गेम जैसे पहेली आदि खेले,आलेख, सुलेख, चित्रकला संबंधी गतिविधियाँ कराएँ ।
  • primary ka master

    Saturday, 14 March 2020

    गुरुजी स्कूलों में झाड़ू लगाने को मजबूर, सफाई कर्मचारियों की फौज ,मार रही मौज,Guruji forced to sweep in schools

    प्रयागराज । primary ka master news - बेसिक शिक्षा विभाग के अधीन संचालित प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में स्वच्छता अभियान सिर्फ शिक्षकों के मत्थे है । सफाई कर्मचारियों में स्कूलो की साफ सफाई से टाटा बाय बाय कर लिया है । पंचायतीराज के अधिकारियों की सुस्ती के चलते सफाई कर्मचारी मौज काट रहे हैं ।


    वो अपनी ड्यूटी ग्राम प्रधान के घर तक ही समझने लगे हैं । जिसके कारण बेसिक स्कूलों में गन्दगी का अम्बार लग गया है । 

    परिषदीय शिक्षक स्वयं झाड़ू उठाने को मजबूर हो रहे हैं। वहीं कुछ शिक्षकों ने चंदे करके निजी सफाई कर्मचारियों से साफ सफाई करवाते हैं ।

    गुरुजी स्कूलों में झाड़ू लगाने को मजबूर, सफाई कर्मचारियों की फौज ,मार रही मौज,Guruji forced to sweep in schools


    प्रयागराज में कुल 2477 प्राथमिक विद्यालय तथा 1001 उच्च प्राथमिक स्कूल संचालित हैं । 
    साफ सफाई की यही समस्या कौशाम्बी के 1410 व प्रतापगढ़ के 2755 स्कूलो में भी है । जहां शिक्षक पढ़ाने के बजाय स्कूलो में झाड़ू लगाने को मजबूर है ।

    बेसिक शिक्षा विभाग को शिक्षकों की इस समस्या को समझना होगा । जिलाधिकारी प्रयागराज को इस मामले में तुरन्त एक्शन लेना होगा  । तभी हालात सुधर सकते हैं । सफाई कर्मचारियों से बात चीत में बेसिक शिक्षक परिवार न्यूज को बताया गया कि उनकी ड्यूटी सफ़ाई के अलावा तमाम अन्य कार्यों में लगा दी जाती है । मसलन बीएलओ ड्यूटी, गौशालाओं के ड्यूटी। 

    इन के चलते वे चाहकर भी स्कूलो में साफ सफाई नही कर पाते हैं । शासन उनके सफाई के इतर कार्यों में न लगाए तो वे भी स्कूलों की स्वच्छता में अपनी भागीदारी कर सकते हैं। 

    बेसिक शिक्षा विभाग से जुड़े मुद्दे व समस्याओं के लिए आप अपनी आवाज twitter के माध्यम से हमें पहुचाएं । हमारा ट्विटर हैंडल @basicshikshatv पर टैग करें । साथ ही हमें twitter पर follow करें ।

    Like us on Facebook

    Like US on Facebook

    PRIMARY KA MASTER NOTICE

    नोट:-इस वेबसाइट / ब्लॉग की सभी खबरें google search व social media से लीं गयीं हैं । हम पाठकों तक सटीक व विश्वसनीय सूचना/आदेश पहुँचाने की पूरी कोशिश करते हैं । पाठकों से विनम्रतापूर्वक अनुरोध है कि किसी भी ख़बर/आदेश का प्रयोग करने से पहले स्वयं उसकी वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें । इसमें वेबसाइट पब्लिशर की कोई जिम्मेदारी नहीं है । पाठक ख़बरों/आदेशों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा ।