बेसिक के 192 शिक्षकों के पैन व 24 के खाता नंबर समान, Basic Shiksha Parishad Teachers के वेतन भुगतान में भी हेराफेरी

प्रयागगाज : बेसिक शिक्षा परिंषद के रकूलों में शिक्षकों की नियुक्तियों में ही हेराफेरी नहीं हुई है, बल्कि शिक्षकों के वेतन भुगतान में भी फर्जीवाड़ा हो रहा है। अभिलेखों की जांच में 192 प्रकरण ऐसे मिल हैं जिसमें एक नाम और पैन नंबर की दो अलग-अलग एंट्री कई जिलों की फाइलों में दर्ज है, कबल उनका खाता नंबर अलग है। इसी तरह से 24 प्रकरण ऐसे हैं जिसमें एक ही बैंक खाता नंबर अलग शिक्षकों के सम्मुख अंकित है। अपर मुख्य सचिव बसिक शिक्षा ने इस पर नाराजगी जताते हुए वित्त नियंत्रक शिक्षा निदेशालय और बेसिक शिक्षा परिषद से तीन दिन में रिपोर्ट मांगी है।

बेसिक शिक्षा महकमे में इन दिनों शिक्षकों के वेतन संबंधी अभिलेखों का भी परीक्षण हो रहा है। वित्त नियंत्रक बेसिक प्रयागराज ने मई माह के वतन भुगतान की रिपोर्ट 21 जून को सौंपी है। इसमें सामने आया है कि 192 प्रकरण एस हैं जिसमें एक ही नाम व पैन नंबर की दो अलग-अलग एंट्री विभिन्‍न जिलों की फाइलों में है, लेकिन उसका खाता नंबर अलग है। इसी तरह से कुल 24 प्रकरण एस हैं जिसमें एक ही बैंक खाता नंबर दो अलग शिक्षकों के नाम के समक्ष दर्ज है। अपर मुख्य सचिव ब्रसिक शिक्षा रणुका कुमार ने इसे बेहद संदिग्ध व आपत्तिजनक करार देते हुए लिखा है कि ये प्रकरण पर्यवेक्षण की विफलता को दर्शाते हैं। उन्होंने आदेश दिया है कि सभी जिलों के शिक्षकों के वतन संबंधी अभिलेखों का परीक्षण कराकर इस तरह से प्रकरणों को चिन्हित करके और अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए तीन दिन में रिपोर्ट मुहैया कराएं