69000 shikshak bharti को लेकर भाजपा कांग्रेस में ट्विटर पर जंग - Battle on Twitter in BJP Congress
Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra and Minister of State for Basic Education (Independent Charge) Satish Chandra Dwivedi have now gone face to face in the 69,000 assistant teacher recruitment case.  On Monday, the minister responded to Priyanka's tweet late in the evening.  He denied outright that there was a scam in this recruitment anywhere.

लखनऊ : 69,000 सहायक शिक्षक भर्ती मामले में अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सतीश चंद्र द्विवेदी आमने-सामने हो गए हैं। सोमवार को प्रियंका के ट्वीट पर देर शाम मंत्री ने जवाब दिया। उन्होंने सिरे से नकारा कि इस भर्ती में कहीं भी घोटाला हुआ है।



प्रियंका ने गुरुवार दोपहर ट्वीट किया था कि लाखों युवाओं ने परीक्षा दी, नौकरी की आस लगाई, सालभर इंतजार किया और सिस्टम में बैठे लोगों की साठगांठ से महाघोटाला हो गया। इसपर सतीश द्विवेदी ने अपने ट्विटर हैंडल से जवाब दिया कि मिसेज वाड्रा आप तो अपने पति रॉबर्ट वाड्रा को बड़े गर्व से ईडी के दफ्तर छोड़कर आई थीं। घोटालों के अंधों को चौतरफा घोटाला ही दिखता है।


‘गलत बोल रहे शिक्षा मंत्री’ : ऐक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने आरोप लगाया कि बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री शिक्षक भर्ती मामले में गलत बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि, अभ्यर्थी राहुल द्वारा मई में दी गई शिकायत से पहले भर्ती में गड़बड़ी की कोई बात सामने न आने का दावा गलत है। नूतन ने कहा कि छह जनवरी 2019 को हजरतगंज कोतवाली में एसटीएफ ने परीक्षा में गड़बड़ी के मामले में एफआईआर दर्ज करवा कर नेशनल इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल सहित 14 लोगों को नामजद किया गया था।