69000 shikshak bharti counseling कोर्ट व सचिव के आदेश के बाद भी कौन्सिलिंग नही रुकी
परिषदीय विद्यालयों के लिए 69 हजार शिक्षक भर्ती के तहत नियुक्ति के लिए चल रही कॉउंसलिंग प्रक्रिया रोक दी गई है। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ के आदेश के बाद शासन के निर्देश पर उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव विजय शंकर मिश्र ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से कॉउंसलिंग रोकने का आदेश दिया।
प्रदेश के सभी बीएसए को लिखे पत्र में उन्होंने तीन से छह जून के बीच कॉउंसलिंग को अग्रिम आदेश तक रोकने का आदेश दिया। इसके बाद प्रदेश के तमाम जिलों में जारी कॉउंसलिंग रोक दी गई।

आदेश के बाद भी  चलती रही काउंसलिंग प्रयागराज। काउंसलिंग को हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीड द्वारा रोक लगाए जाने के बाद भी प्रदेश के अधिकांश जिलों में काउंसलिंग चलती रही। अधिकारी सचिव बेसिक शिक्षा परिषद अथवा शासन के आदेश का इंतजार करते रहे। उनका कहना था कि जब तक उन्हें अधिकारियों का लिखित आदेश नहीं मिल जाता, वह काउंसलिंग प्रक्रिया जारी रखेंगे। प्रदेश के कुछ जिलों में हालांकि कोर्ट के आदेश की जानकारी मिलने के बाद काउंसलिंग रोक दी गई थी। प्रयागराज जिले में तीन बजे तक सचिव बेसिक शिक्षा परिषद का आदेश जारी होने तक काउंसलिंग जारी रही।