राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल की नसीहत - सरकारों पर बोझ न बनें शिक्षण संस्थान, आय के स्रोत तलाशें education institute don't be burdens of up govt

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने विश्वविद्यालयों ने अपील की है कि वे राज्य सरकार पर बोझ न बनें और आत्मनिर्भर बनने के लिए आय के स्रोत तलाशें। उन्होंने विश्वविद्यालयों को अपने शिक्षकों और कर्मचारियों की प्रोन्नति समय से करने के निर्देश भी दिए, जिससे उनका मनोबल बना रहे। 



वह शुक्रवार को राजभवन में लखनऊ विश्वविद्यालय की समस्याओं के समाधान एवं शताब्दी वर्ष समारोह मनाने के संबंध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रही थीं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार दो-तीन विश्वविद्यालयों का चयन कर उसे पूरा सहयोग दें जिससे वे नैक मूल्यांकन में 'ए' ग्रेड हासिल कर सकें, क्योंकि प्रदेश का कोई भी विश्वविद्यालय नैक मूल्यांकन में 'ए' ग्रेड प्राप्त नहीं कर सका है।


शताब्दी समारोह मनाए जाने के संबंध में राज्यपाल ने कहा कि उप मुख्यमंत्री जो प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री भी हैं, के दिशा-निर्देशन में शताब्दी समारोह का भव्य और ऐतिहासिक आयोजन किया जाए। राज्यपाल ने कहा कि उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी सप्ताह में एक दिन तय करें ताकि वे विश्वविद्यालयों के कुलपति से मिलकर उनकी समस्याओं को सुनें एवं उनके निराकरण में सहयोग करें। इसके साथ ही वे स्वयं विश्वविद्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण कर वहां की स्थिति का जायजा भी लें, जिससे छोटी-छोटी समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण हो सके।


बैठक में उप मुख्यमंत्री एवं उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री नीलिमा कटियार, राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव महेश कुमार गुप्ता, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा मोनिका एस. गर्ग, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव कुमार मित्तल, लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय एवं राज्यपाल के विशेष कार्याधिकारी केयूर सम्पत सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।