Madhyamik school में ncert book से होगी पढ़ाई, dios को निर्देश जारी
सभी प्रकार के माध्यमिक स्कूलों में में निजी प्रकाशकों की किताबों को पूरी तरह दूरी बनाने के निर्देश दिए हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने डीआइओएस को निर्देशित किया है कि वह जिले के सभी स्कूल-कॉलेज में एनसीईआरटी की किताबों का संचालन करें। एनसीईआरटी (राष्ट्रीय शैक्षिक और अनुसंधान परिषद) की किताबों की गुणवत्ता को सराहा है। सस्ती किताबों की राहत अभिभावकों को दी जाए। और अनुसंधान के बाद बोधगम्य भाषा में लिखी गई 55 पुस्तकें लिखी गई है इनको कक्षा 9 से 12 तक में संचालन का कड़ाई से अनुपालन किया जाए। 


एनसीईआरटी की जिन किताबों से पढ़ाई कराने का निर्देश दिया गया है उसमें कक्षा 9 में अंग्रेजी, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, गणित में। कक्षा 10 में विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, गणित, कक्षा 11 में अंग्रेजी, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, गणित, इतिहास, भूगोल, शारीरिक शास्त्र, अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र, व्यवसाय अध्ययन, लेखा शास्त्र शामिल हैं। कक्षा 12 में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, गणित, इतिहास, भूगोल, नागरिक शास्त्र, अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र शामिल हैं। प्रकाशित और शिक्षण संस्थानों का गठजोड़ निजी प्रकाशकों और शिक्षण संस्थान किताबों के संचालन के लिए गठजोड़ करते हैं। इस गठजोड़ में अभिभावक पिसते आए हैं। गठजोड़ के तहत किताबों का मूल्य खाना ज्यादा होता है। प्रकाशक से हाथ मिलाए स्कूल दूसरे संचालक या फिर एनसीईआरटी की किताबें को दरकिनार कर देते हैं। कई बार अभिभावकों ने आवाज उठाई तो उसका खामियाजा भी स्कूल प्रशासन के द्वारा दिया गया तो उसे भुगता।