Primary Ka mater Training by Deeksha Mobile App Latest News
कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में दीक्षा एप पर शत प्रतिशत शिक्षक प्रशिक्षण नहीं ले रहे हैं। ऐसे शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा गया है। केजीबीवी में पिछले एक मई से प्रशिक्षण दिया जा रहा है। बेसिक शिक्षा विभाग ने अपने प्रशिक्षण की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी है।



केजीबीवी में 5 हजार से भी ज्यादा शिक्षक हैं। इस प्रशिक्षण में विभिन्न अवधि के कोर्स थे, जिन्हें पूरा कर के शिक्षकों का मूल्यांकन किया जाना है लेकिन इसमें सभी शिक्षकों ने पंजीकरण नहीं करवाया जबकि यह अनिवार्य था। इसमें सभी मॉड्यूल को देखें तो अधिकतम 2826 शिक्षकों ने ही प्रशिक्षण पूरा किया है। सवाल पूछने के कौशल मॉड्यूल को सबसे कम 2147 शिक्षकों ने पूरा किया है। कई शिक्षकों ने बीच में ही प्रशिक्षण छोड़ दिया जबकि कई इसमें पंजीकृत ही नहीं हुए। अब बेसिक शिक्षा अधिकारी इन शिक्षकों से स्पष्टीकरण लेंगे।


परिषद के शिक्षकों का प्रशिक्षण भी ऑनलाइन शुरू कर दिया गया है। विभाग ने ऑनलाइन प्रशिक्षण और दीक्षा ऐप के उपयोग को शिक्षकों की गोपनीय आख्या का अंग बनाया गया है। इन पर भी कुछ नंबर तय किए गए हैं। लिहाजा इसे पूरा करना अनिवार्य रहेगा। प्रशिक्षण के अंत में शिक्षकों का इस आधार पर मूल्यांकन भी होगा कि उन्होंने इससे क्या सीखा।


दीक्षा एप से भी हो रही है पकड़
दीक्षा ऐप में आधार कार्ड से पंजीकरण हो रहा है। लिहाजा इसे शुरू करते समय माना जा रहा था कि यदि फर्जी शिक्षक होंगे तो वे आधार नामांकन से बचेंगे। इस आधार पर भी केजीबीवी में जांच की जा रही है कि किन शिक्षकों ने पंजीकरण नहीं करवाया।