असली नकली के चक्कर में नियुक्ति के भटक रहे असिस्टेंट प्रोफेसर पद के दावेदार - Primary Ka Master Assistant Professor
 प्रयागराज : उच्च शिक्षा निदेशालय ने एक सप्ताह पहले हंिदूी व राजनीति शास्त्र विषय में असिस्टेंट प्रोफेसर पद के चयनितों की काउंसिल पूरी कर ली है। अशासकीय सहायता प्राप्त (एडेड) डिग्री कालेजों के लिए उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने विज्ञापन संख्या 47 के तहत उनका चयन किया था। नियुक्ति पत्र जारी न होने के कारण सैकड़ों चयनित डिग्री कालेज व निदेशालय के बीच चक्कर काटने को मजबूर हैं।

उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने विज्ञापन संख्या 47 के तहत 35 विषयों में 1150 असिस्टेंट प्रोफेसर पद की भर्ती निकाली थी। इस भर्ती के तहत 34 विषयों का रिजल्ट जारी हो गया है। लेकिन, निदेशालय नियुक्ति पत्र डिग्री कालेजों में भेजने में रुचि नहीं ले रहा है। इधर, निदेशालय समाजशास्त्र के चयनितों की काउंसिलिंग की तैयारी करने लगा है। इससे नियुक्ति पत्र भेजने की प्रक्रिया सुस्त हो गई है।

बनाया गया यह नियम : उच्च शिक्षा निदेशालय हंिदूी भाषा में बनी आसन-व्यवस्था संबंधी पत्र पर सहायक निदेशक उच्च शिक्षा या संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा प्रयागराज से प्रमाणित कराएगा। आवेदन पत्र की प्रतिलिपि के साथ संलग्न करके नियुक्ति पत्र उच्च शिक्षा निदेशालय से भेजा जाएगा।

जारी हुए थे फर्जी नियुक्ति पत्र


उच्च शिक्षा निदेशालय ने 28 फरवरी को अंग्रेजी के 147, शारीरिक शिक्षा के 60, अर्थशास्त्र के 33, इतिहास के 38, भूगोल के 48, चित्रकला विषय के दो पदों की ऑनलाइन काउंसिलिंग कराकर चयनितों का नियुक्ति पत्र वेबसाइट में अपलोड कर दिया था। चयनितों का नियुक्ति पत्र हंिदूी में बनाया गया था। लेकिन, शारीरिक शिक्षा के चयनितों के पास से अंग्रेजी में लिखा नियुक्ति पत्र मिला।