खुद को मिनी खण्ड शिक्षा अधिकारी समझने वाला एआरपी 3000 रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज - currupt ARP arrest cause to taken bribe

आगरा में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के दल ने शनिवार दोपहर को बरौली अहीर के नगला बिहारी स्थित प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक को तीन हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया। वह प्राथमिक विद्यालय झारपुरा की प्रधानाध्यापिका से अनुपस्थिति लगने पर निलंबन से बचाने के लिए रुपये मांग रहा था। प्रधानाध्यापिका की शिकायत पर टीम ने जाल बिछाकर आरोपी को पकड़ लिया। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। 





थाना ताजगंज के कृपा धाम अपार्टमेंट निवासी नीरजा शर्मा बरौली अहीर स्थित गांव झारपुरा के प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका हैं। उन्होंने शुक्रवार को एंटी करप्शन में शिकायत की कि आठ जनवरी को तबीयत खराब होने के कारण वह 30 मिनट पहले प्राथमिक विद्यालय से चली आईं थीं। तभी खंड शिक्षा अधिकारी पहुंच गए। विद्यालय से अनुपस्थित पाकर स्पष्टीकरण मांगा। खंड शिक्षा अधिकारी ने प्रधानाध्यापक जितेंद्र कुमार को स्पष्टीकरण देने के लिए कहा। 

एंटी करप्शन टीम के मुताबिक, जितेंद्र कुमार बरौली अहीर ब्लाक के नगला बिहारी स्थित प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक है। वह खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (एआरपी) भी हैं। नीरजा शर्मा ने जितेंद्र से संपर्क किया। 

उसने 18 जनवरी को उनके वाट्सएप नंबर पर स्पष्टीकरण मांगने से संबंधित रिपोर्ट भेजी। उनसे कहा कि वह निलंबित कर दी जाएगी। आरोप है कि जितेंद्र कुमार ने निलंबन से बचने के एवज में पांच हजार रुपये रिश्वत मांगी। उसने कई बार उन्हें फोन करके रकम देने के लिए कहा। वह तीन हजार रुपये लेकर रिपोर्ट उनके पक्ष में देने को तैयार हो गया।

टीम के पकड़ने पर खिड़की से कूदकर भागने लगा
एंटी करप्शन के निरीक्षक जसपाल पवार के मुताबिक, नीरजा शर्मा की शिकायत पर टीम बनाई गई। नीरजा शर्मा ने जितेंद्र कुमार को शनिवार को अपने फ्लैट पर बुलाया। उसके आने से एक घंटे पहले टीम पहुंच गई। उनके फ्लैट के दूसरे कमरे में बैठ गई। जितेंद्र कुमार फ्लैट पर दोपहर तीन बजे पहुंचा। बातचीत के बाद वह रकम लेकर जाने लगा। तभी एंटी करप्शन के निरीक्षक सूरज सिंह बाहर आ गए। 

उन्होंने आरोपी को पकड़ लिया। उसे जैसे ही पता चला कि एंटी करप्शन की टीम है, वह भागने लगा। फ्लैट की खिड़की से भी कूदने का प्रयास किया। उसे किसी तरक काबू किया गया। फ्लैट से गाड़ी में लाने के दौरान भी हंगामा किया। इस पर लोगों की भीड़ भी लग गई। आरोपी से रिश्वत की रकम बरामद कर ली। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। रविवार को उसे मेरठ की एंटी करप्शन कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा ।