बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों की लापरवाही से 56 हजार परिषदीय स्कूलों में अभी भी बिजली कनेक्शन नहीं, पैसा भेजे बीत गए डेढ़ साल, कम्पोजिट ग्रांट पर जमी निगाह - Primary school electricity connection 2021

लखनऊ : पैसा भी जारी हो गया और आदेश भी, लेकिन डेढ़ साल बीत चुके हैं और अब भी बेसिक शिक्षा विभागको नहीं पता कि है। काम पूरा हुआ है या नहीं ? मामला प्राइमरी व जूनियर स्कूलों में बिजली कनेक्शन का है।

बेसिक शिक्षा अधिकारियों की लापरवाही के कारण विभाग को पता ही नहीं कि सभी 80 हजार स्कूलों में कनेक्शन हुआ है या नहीं। बीते वर्ष की जानकारी के मुताबिक 56 हजार से ज्यादा स्कूलों में कनेक्शन होना बाकी है । जुलाई 2019 में विभाग ने आदेश जारी कर 80092 प्राइमरी व जूनियर स्कूलों को बिजली का कनेक्शन करने के आदेश दिए थे। पैसा भी जारी कर दिया गया था।



 जिला स्तर पर पावर कारपोरेशन के साथ समन्वय स्थापित करबिजली का कनेक्शन करवाना था। दिसम्बर 2019 में पावर कॉरपोरेशन ने बेसिक शिक्षा विभाग को पत्र लिख कर सूचना दी कि प्रदेश में 23448 प्राइमरी स्कूलों में नए कनेक्शन दिए गए। वहीं 9194 स्कूलों में बिजली की सप्लाई शुरू कर दी गई। चूंकि आदेश ৪0092 स्कूलों में कनेक्शन करवाने का थालिहाजा अब भी 56644 स्कूल ऐसे हैं जहां कनेक्शन नहीं हुए हैं।