बिना प्रमोशन हेडमास्टर की जिम्मेदारी उठाने से इंचार्ज हेडमास्टरों ने खड़े किए हाथ, बेसिक शिक्षा विभाग को दी आंदोलन की चेतावनी - incharge headmaster will protest for promotion

प्रमोशन न होने से नाराज शिक्षक, एक हजार से अधिक अध्यापक प्रभारी हेडमास्टर के तौर पर कार्य कर रहे हैं।

पडरौना। जिले में एक हजार से अधिक अध्यापक प्रभारी हेडमास्टर के तौर पर कार्य कर रहे हैं। प्रमोशन के लिए ये शिक्षक कई बार आंदोलन कर चुके हैं। शुक्रवार की रात में 10 बजे तक शिक्षकों ने धरना दिया था। इन शिक्षकों ने प्रमोशन नहीं होने पर प्रभारी पद छोड़ने की बात कही है। टेट मोर्चा से जुड़े शिक्षकों का कहना है कि जिले में प्राथमिक और संविलयन समेत कुल 2464 विद्यालय संचालित हैं।
इन विद्यालयों में तैनात सहयाक अध्यापकों की शिक्षा विभाग की तरफ से कई वर्षों से वरिष्ठता सूची जारी नहीं हुई है। विद्यालयों में रिक्त प्रधानाध्यापकों का कार्यभार वहां तैनात वरिष्ठ अध्यापकों को सौंप दिया जाता है। अंतर जनपदीय तबादला के चलते कई स्कूलों में
 

कार्यरत प्रभारी हेडमास्टर का पद भी रिक्त हो गया है। शिक्षक नेताओं का कहना है कि अस्थाई व्यवस्था अल्पकाल के लिए तो ठीक है, लेकिन बिना प्रमोशन पाए ही शिक्षकों से अतिरिक्त कार्य लिया जाना उचित नहीं है। उन्होंने आंदोलन की चेतावनी भी दी।
इस संबंध में बीएसए विमलेश कुमार ने बताया कि शिक्षक संगठनों की मांग पर बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव से मार्ग दर्शन मांगा गया है। उनके तरफ से मिले निर्देश के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।