दिनों दिन बढ़ रही मंहगाई से जनता त्रस्त, राज्य कर्मचारियों को मंहगाई की दोहरी मार, फ्रीज डीए न मिलने से कर्मचारियों में नाराजगी - freeze da allowance
केंद्रीय और राज्य कर्मचारियों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। पेट्रोल पदार्थों के मूल्य में अप्रत्याशित बढ़ोतरी की वजह से अन्य वस्तुएं भी महंगी हो गई हैं। इसके विपरोत जनवरी 2020 से ही महंगाई भत्ता सीज है। इससे कर्मचारियों में नाराजगी है और वे आंदोलनरत हैं। फ्रोज होने को वजह से अब तक तीन बार डीए में बढ़ोतरी नहीं हुई है। 


इससे कर्मचारियों को 11 प्रतिशत डीए के बराबर कम वेतन मिल रहा है। इसके खिलाफ कर्मचारियों, शिक्षकों फेडरेशन आफ सेंट्रल गवर्नमेंट सरकार को रिकार्ड जीएसटी की प्राप्ति कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष नर की ओर से संयुक्त फोरम का गठन इंप्लाइज एंड वर्कर्स के प्रदेश अध्यक्ष हुई है। ऐसे में डोए फ्रीज करना सिंह ने एरियर के साथ डीए भुगतान की करके आंदोलन को तैयारी की गई है। सुभाष पांडेय का कहना है कि इस वर्ष कर्मचारियों के साथ अन्याय है। राज्य मांग की।