गर्भवती, बीमार, निशक्त व आवश्यक सेवाओं में शामिल कर्मचारियों की कटेगी इलेक्शन ड्यूटी - up panchayat election duty

हरदोई। गर्भवती, बीमार, निशक्त और आवश्यक सेवाओं में शामिल 2955 कर्मियों को पंचायत चुनाव की ड्यूटी से मुक्त कर दिया गया है। दरअसल, ड्यूटी के लिए आयोग द्वारा तैयार किए गए इलेक्शन स्टाफ डिप्लोयमेंट (ईएसडी) साफ्टवेयर में कर्मियों की फीडिंग का कार्य पूर्ण हो गया है।

206 विभागों के द्वारा 30,654 कर्मियों का सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी बीएल भार्गव ने बताया कि शिक्षकों के स्थानांतरण के कारण शिक्षा विभाग पिछले माह तक फीडिंग नहीं करा पाया था। जो अब पूर्ण हो गया इसके बाद आयोग के निर्देश पर साफ्टवेयर को भी लॉक कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 19 ब्लॉकों में तैयार किए गए 4730 बूथों के हिसाब से ही जिले में करीब 5675 पीठासीन अधिकारियों की व्यवस्था इन्हीं कर्मियों से की जाएगी। इनमें बूथवार के अलावा 20 प्रतिशत अतिरिक्त भी शामिल हैं।

बाहर से नहीं मांगने होंगे कर्मी
सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि पंचायत के सभी पदों पर चुनाव एक साथ होंगे। इसको लेकर कर्मियों की संख्या अधिक जरूरत होगी। जिले में फीड हुई संख्या के आधार पर यह कहा जा सकता है कि फिलहाल कर्मियों को बाहरी जिलों से नहीं मांगना होगा।

संविदाकर्मियों की भी लगेगी ड्यूटी
इस बार चुनाव में संविदाकर्मियों को कोई छूट नहीं मिल पाएगी। अधिक कर्मी जरूरत होने के कारण संविदा कर्मियों की भी ड्यूटी लगाई जाएगी। इनमें आंगनबाड़ी, आपरेटर सहित समस्त संविदा कर्मी शामिल हैं। ड्यूटियां रेंडमाइजेशन के आधार पर लगाईं जाएंगी।