बेसिक शिक्षा विभाग ने कोरोना महामारी से बचाव के लिए प्रति छात्र 12 रुपये तथा एप्रेन, ग्लब्स, कैप के लिए प्रति रसोइया 800 रुपये जारी किया बजट - for protects against corona epidemic budget 2021

बेसिक शिक्षा विभाग ने स्कूली बच्चों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए 32 लाख 78 हजार 884 रुपये का बजट आवंटित किया है, इस धनराशि से स्कूलों में साबुन और सैनिटाइजर आदि की खरीद की जाएंगी ।


जिले भर के परिषदीय स्कूलों में दो लाख 73 हजार 237 बच्चे पंजीकृत हैं कोरोना से बचाव के लिए स्कूलों में सामग्री खरीद की मंजूरी दी गई है, प्रति बच्चा 12 रुपये की दर से बजट आवंटित किया गया है, यह धनराशि बी०एस०ए० कार्यालय में आ चुकी है

इससे साबुन , सैनिटाइजर , लेखन सामग्री की खरीद की जानी है,स्कूलों की छात्र संख्या के हिसाब से धनराशि आवंटित करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग में पत्रावली तैयार हो रही है, यह धनराशि स्कूलों के खाते में भेजी जाएगी और प्रधानाध्यापक सामग्री की खरीद करेंगे ।

बी०एस०ए० शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि शासन ने पहली बार साबुन के साथ सैनिटाइजर की खरीद की व्यवस्था की है, इससे पहले एमडीएम खाने से पहले हाथ धोने के लिए साबुन की खरीद होती रही है, डीएम से स्वीकृति मिलते ही धनराशि स्कूलों के बैंक खाते में भेज दी जाएगी ।

एप्रेन , ग्लब्स , कैप में नजर आएंगी रसोइया मध्यान्ह भोजन योजना से जुड़ी रसोइयों को अब खाना पकाते समय एप्रेन , ग्लब्स और सिर पर कैप लगाना अनिवार्य होगा, इन सामानों की खरीद के लिए 47 लाख 28 हजार का बजट आवंटित किया गया है ।

परिषदीय और एडेड स्कूलों में कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों को मध्यान्ह भोजन पकाने के लिए जिले भर में 5910 रसोइयों की तैनाती है, मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण ने प्रत्येक रसोइयां को 2 सेट एप्रेन , ग्लब्स , कैप की खरीद के लिए प्रति रसोइयां 800 रुपये का बजट स्कूल को दिया है ।

जिला बेसिक शिक्षा विभाग के कार्यालय में इसकी पत्रावली तैयार हो रही है, इस धनराशि से प्रधानाध्यापक रसोइयों को 2 सेट यूनिफार्म की खरीद कर उपलब्ध कराएंगे ।