बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 13 रजिस्टर हुए अनिवार्य, शिक्षक डायरी के अलावा बाकी रजिस्टर प्रधानाध्यापक कक्ष में - 
Up primary school 13 register necessary
 प्रयागराज : परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों को विद्यालय स्तर पर तमाम तरह के रजिस्टर रखने से मुक्ति मिलेगी। उन्हें अब मात्र 13 रजिस्टर रखने होंगे। पूर्व में कई रजिस्टर रखने की वजह से कार्यो के निष्पादन में कठिनाई होती थी।


महानिदेशक स्कूल शिक्षा एवं राज्य परियोजना निदेशक ने सभी बेसिक शिक्षाधिकारियों को भेजे पत्र में निर्देशित किया है कि विद्यालय स्तर पर 13 रजिस्टर रखे जाएं। आय व्यय पंजिका व चेक इश्यू पंजिका को एक कर दिया गया है। पूर्व में बनाए गए सभी रजिस्टरों को अभिलेख के रूप में स्कूल स्तर पर संरक्षित करने के लिए भी कहा गया है।

बेसिक शिक्षाधिकारी संजय कुशवाहा ने बताया कि नए निर्देशों के अनुसार स्कूलों में अब शिक्षक डायरी, कार्मिक उपस्थिति पंजिका, प्रवेश पंजिका, विद्यार्थी उपस्थिति पंजिका, एमडीएम पंजिका, निश्शुल्क सामग्री वितरण पंजिका, स्टॉक पंजिका, आय व्यय एवं चेक इश्यू पंजिका, बैठक पंजिका, निरीक्षण पंजिका, पत्र व्यवहार पंजिका, बाल गणना पंजिका, पुस्तकालय एवं खेलकूद पंजिका रखना अनिवार्य किया गया है। यह सभी पंजिका शैक्षिक सत्र 2021-22 से प्रयोग में लाई जाएगी। इनकी खरीदारी स्कूल को भेजी गई कंपोजिट ग्रांट से होगी। शिक्षक डायरी शिक्षकों के पास रहेगी। अन्य सभी पंजिकाएं प्रधानाध्यापक कक्ष में रखी जाएंगी। सभी पंजिकाओं को ठीक ढंग से रखने के साथ ही उन्हें समय समय पर अपडेट भी करना होगा। राज्य व जनपद स्तर के अधिकारियों के विद्यालय भ्रमण के दौरान सभी रजिस्टर उपलब्ध होने चाहिए। बीएसए ने यह भी बताया कि प्रवेश पंजिका का विवरण, एमडीएम पंजिका, निरीक्षण पंजिका के ऑनलाइन विकल्प प्रेरणा पोर्टल पर उपलब्ध रहेंगे।