बस्ती जिले के सरकारी स्कूलों को बनाया जाएगा क्वारंटीन सेंटर, बाहर से आने वाले प्रवासियों को घर के बजाय यहीं रखा जाएगा, उपलब्ध होंगी जरूरी सुविधाए - Government schools in Basti district will be made quarantine center,

बस्ती। जिला मुख्यालय पर सरला इंटरनेशनल के अलावा मतदेय स्थलों को छोड़कर सभी प्राइमरी स्कूलों को क्वारंटीन सेंटर बनाया जाएगा। इसमें ऐसे लोगों को रखा जाएगा जिनके घर में अलग से कमरे ■ की सुविधा नहीं है। इन सेंटरों मे ईओ व बीडीओ आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराएंगे।


डीएम सौम्या अग्रवाल ने शुक्रवार - को विकास भवन सभागार स्थित - कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर में - आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान यह निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि गांव की निगरानी एवं नगर में मोहल्ला समितियों को सक्रिय करें, जो प्रवासियों की जांच करायेगी। प्रवासियों के लिए रेलवे स्टेशन, बभनान, रोडवेज बस स्टेशन तथा बड़ेवन पर टीम लगाकर जांच की सुविधा दी जाएगी। उन्होंने बीएसए को निर्देश दिया है कि इन चारो स्थानों पर अपने कर्मी लगाकर प्रवासियों का रजिस्टर मेंटेन कराएं बीएसए इन स्थानों पर 24 घंटे ड्यूटी करने वाले कर्मियों की तैनाती करेंगे। डीएम ने बताया कि ओपेक कैली अस्पताल तथा मुंडेरवा
सीएचसी में कोरोना पाजिटिव मरीजों को इलाज हेतु भर्ती किया जाएगा। हर्रया में दुबौलिया सीएचसी तथा नवनिर्मित 100 बेड महिला अस्पताल कोविड समर्पित अस्पताल के रूप में चिह्नित किया गया है।
भानपुर में आश्रम पद्धति विद्यालय को कोविड 19 अस्पताल बनाया गया है जिसमें रूधौली के मरीज भी रखे जायेंगे। सीएमओ डॉ. अनूप कुमार ने बताया कि हरैंया स्थित महिला अस्पताल के लिए संपूर्ण सामग्री प्राप्त हो गई है। मुंडेरवा में डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ की ड्यूटी लगा दी गई हैं। डीएम ने इओ नगर पालिका बस्ती अखिलेश त्रिपाठी को सभी नगर पंचायतों में क्वारंटीन सेंटर, सैनिटाइजेशन करने, होम आईसोलेटेड व्यक्तियों तथा अन्ट्रेस्ड मरीजों के खोज बीन के लिए नोडल नामित किया है। इस मौके पर सीडीओ डॉ. राजेश प्रजापति, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नंदकिशोर कलाल, एसडीएम आशाराम वर्मा, आनंद श्रीनेत, डॉ. सीके वर्मा, डॉ. राकेश मणि त्रिपाठी, डॉ. अजीत कुमार कुशवाहा, डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, कृषि अधिकारी संजेश श्रीवास्तव, टीपी गुप्ता आदि मौजूद रहे ।