काशी में अंतिम यात्रा बना कमाई का व्यापार, कंधा देने के ले रहे पांच हजार, वाराणसी में मानवता लुप्त होने के कगार पर - humanity dead soon in varanasi