कंपोजिट स्कूल ग्रांट 12500 ₹ से लेकर 100000 ₹ ऐसे करें उपभोग, compsite grant 2018-19 upbhog kaise kare - Primary Ka Master || UPTET, Basic Shiksha News, TET, UPTET News
  • primary ka master

    PRIMARY KA MASTER- UPTET, BASIC SHIKSHA NEWS, UPTET NEWS LATEST NEWS


    Sunday, 13 January 2019

    कंपोजिट स्कूल ग्रांट 12500 ₹ से लेकर 100000 ₹ ऐसे करें उपभोग, compsite grant 2018-19 upbhog kaise kare

    कंपोजिट स्कूल ग्रांट 12500 ₹ से लेकर 100000 ₹ ऐसे करें उपभोग, compsite grant 2018-19 upbhog kaise kare


    2018-19 में छात्र सँख्या के आधार पर 12500₹ से लेकर 100000₹ प्रति विद्यालय तक की कंपोजिट स्कूल ग्रांट

    (1) 1-15 तक छात्रसँख्या पर 12500₹

    (2) 16-100 तक छात्रसँख्या पर 25000₹

    (3) 101-250 तक छात्रसँख्या पर 50000₹

    (4) 251-1000 तक छात्रसँख्या पर 75000₹

    (5) 1000 से अधिक छात्रसँख्या पर 100000₹

    "कंपोजिट स्कूल ग्रांट" की धनराशि से विद्यालयों में क्रय की जाने वाली सामग्री विद्यालय में कराए जाने वाले कार्यों की सुझाव सूची/विवरण

    रु.25000/- एवम रु.50000/- के अंतर्गत क्रय की जाने वाली सामग्री का विवरण
    ★★★★★★★★★★★★★★

    1-स्वच्छता अभियान-

    हाथ धोने का साबुन- (विद्यालय में छात्र नामांकन के आधार पर आवश्यकतानुसार), फिनायल, (10 लीटर/20 लीटर),  चुना (10 किलोग्राम) , बाल्टी(2), मग(2) , कूड़ादान(4) , टॉयलेट ब्रश( 2),  टॉयलेट क्लीनर (10 लीटर/20 लीटर),  नेल कटर (4/8)

    2-अनुरक्षण कार्य--

    विद्यालय में उपलब्ध मरम्मत योग्य सामग्री जैस-े कुर्सी , मेज,  झूला , हैंडपंप,  ब्लैक बोर्ड ,फर्श एवं दीवार के आंशिक प्लास्टर/पैच वर्क एवं अन्य समस्त प्रकार की छोटी मोटी मरम्मत एवं रखरखाव,  स्मार्ट क्लास एवम टीचर रिसोर्स लैब( टी.आर.एल.) का रखरखाव ।

    3-रंगाई पुताई--

    विद्यालय की रंगाई पुताई, दरवाजे , खिड़कियों, ग्रिल, चहारदीवारी, गेट के पेंट ।

    4-पेंटिंग कार्य--

    लोगो-"सब पढ़ें सब बढ़ें , बाल अधिकार , विद्यालय प्रबंध समिति के सदस्यों के नाम एवं दूरभाष नंबर , विद्यालय के प्रधानाध्यापक का नाम (दूरभाष नंबर सहित) एवं समस्त अध्यापकों के नाम, अधिकारियों के नाम एवं मोबाइल नंबर , जिला अधिकारी , जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ,खंड शिक्षा अधिकारी, ग्राम प्रधान के नाम (दूरभाष न सहित), महत्वपूर्ण  दूरभाष नंबर जैसे- पुलिस सेवा,  फायर बिग्रेड,  एंबुलेंस,  किचन पर एमडीएम का मीनू , विद्यालय में बरामदा के ऊपर विद्यालय का यू डाइस कोड एवं नाम ,विकास खंड तथा जनपद का नाम ।

    5-फर्स्ट एंड बॉक्स--

    रुई ,मेडिकल टेप,  क्रेप बैंडेज, मरहम पट्टी ,त्रिकोणीय बैंडेज, स्प्लिंट टूर्निक्वेट (tourniquet),  थर्मामीटर , कैची , दस्ताने,  एंटीसेप्टिक लिक्विड, पेन रिलीवर टेबलेट , पेरासिटामोल, पेट दर्द एवं गैस की दवा ,  बरनोल,  ओआरएस पैकेट , आंख पर लगाने वाली पैड,  गर्म पानी की बोतल ,ब्लेड,  बर्फ की थैली , एंटीसेप्टिक क्रीम ।

    6-अग्निशमन यंत्र--

    रिफिलिंग , दो बाल्टी (बालू भरकर रखने हेतु)

    7-स्टेशनरी--

    कक्षावार छात्र उपस्थिति पंजिका,  शिक्षक उपस्थिति पंजिका,  आवागमन पंजिका , पत्र व्यवहार पंजिका , स्टॉक पंजिका,  पुस्तकालय स्टॉकबुक , पुस्तक निर्गमन पंजिका, कीड़ा स्टॉक पंजिका , रजिस्टर ,चाक एवं डस्टर ।

    8-टाट पट्टी/चटाई/दरी--

    पर्याप्त संख्या में टाट पट्टी/चटाईयां/दरी ( बच्चों के कक्षा कक्ष में बैठने  हेतु )

    9-रेडियो प्रोग्राम (मीना मंच, जन पहल ,आओ अंग्रेजी सीखें )--

    रेडियो (केवल मरम्मत) एवं बैटरी क्रय ।

    10-इंटरनेट बिल--

    प्रीपेड बिल रिचार्ज के अनुसार ।

    11-विद्युत उपकरण ( क्रय/मरम्मत)--

    स्विच ,प्लग ,तार ,एल.ई.डी. बल्ब ,पंखे की मरम्मत ।

    12-सांस्कृतिक कार्यक्रम हेतु--

    माइक/एंपलीफायर, ढोलक , मजीरा ढपली , बांसुरी , स्टॉपवॉच ।

    13-सामान्य सामग्री--

    एक बुलेटिन बोर्ड , कुर्सी , मेज , घड़ा , लोटा , गिलास , शीशा , घंटा , मुंगरी , तोलिया , एयर पंप , दीवार घड़ी , महान पुरुष/स्वतंत्रता सेनानियों की फोटो ( फ्रेम सहित) ।

    14-बागवानी सामग्री--

    खुरपी , फ़ावड़ा , कुदाल , हसिया , कतरनी ,  हजारा , टोटी , प्लास्टिक पाइप (आधा इंच)

    15-शिक्षक सहायक सामग्री--

    ग्लोब , मानचित्र (विश्व , भारत , उत्तर प्रदेश) , विज्ञान /भूगोल/ इतिहास अन्य ज्ञानवर्धक चार्ट ।

    16-दिव्यांग छात्रों हेतु सामग्री--

    टी.एल.एम. एवं एम्बोसड ग्लोब एवं मानचित्र ।

    17-पुरस्कार वितरण हेतु सामग्री--

    विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेता छात्रों को प्रोत्साहन पुरस्कार जैसे- पेन/पेंसिल/लंचबॉक्स , कहानियां/पेंटिंग की किताब , मोमेंटो आदि ।

    नोट--
    1- क्रमांक 1 से 8 तक के सामग्री/कार्य आवश्यक रूप से क्रय/कराए जाने हैं।

    2- क्रमांक 9 से 17 तक के कार्य/सामग्री का कार्य/क्रय विद्यालय की आवश्यकता अनुसार किया जाना है।