GK Questions about Bauddh Dharma:- बौद्ध धर्म से जुड़े महत्वपूर्ण परीक्षापयोगी तथ्य व प्रश्नोत्तरी - प्राइमरी का मास्टर - UPTET | Primary Ka Master | Basic Shiksha News | Shiksha Mitra News
  • primary ka master

    UPTET | PRIMARY KA MASTER | BASIC SHIKSHA NEWS | SHIKSHA MITRA


    Sunday, 14 April 2019

    GK Questions about Bauddh Dharma:- बौद्ध धर्म से जुड़े महत्वपूर्ण परीक्षापयोगी तथ्य व प्रश्नोत्तरी

    GK Questions about Bauddh Dharma:- बौद्ध धर्म से जुड़े महत्वपूर्ण परीक्षापयोगी तथ्य व प्रश्नोत्तरी


    GK Questions about Bauddh Dharm:- हेलो दोस्तों आज हम आपसे बौद्ध धर्म से जुड़े महत्वपूर्ण परीक्षापयोगी तथ्य व प्रश्नोत्तरी शेयर करने जा रहे हैं, विगत में हो चुकीं परीक्षाओं को देखते हुए आगामी परीक्षाओं हेतु इसमें बौद्ध धर्म से जुड़े महत्वपूर्ण सभी तथ्यों का शामिल किया गया है, जोकि बहुत ही उपयोगी जानकारीपूर्ण है. तो चलिए शुरू करते हैं आज की प्रश्नोत्तरी:-

    GK Questions about Bauddh Dharm


    गौतम बुद्ध का जन्‍म कब और कहाँ हुआ था – 563 ई. पू., लुम्बिनी में 


    वह आद्यतम बौद्ध साहित्‍य जो बुद्ध के विभिन्‍न जन्‍मों की कथाओं के विषय में है, क्‍या है – जातक


    ‘त्रिपिटक’ धर्म ग्रन्‍थ है – बौद्धों का


    बुद्ध ने किस स्‍थान पर महापरिनिर्वाण (मृत्‍यु) प्राप्‍त किया था – कुशीनगर में


    भारत में सबसे प्राचीन विहार है – नालंदा


    बुद्ध की मृत्‍यु के बाद प्रथम बौद्ध संगीति की अध्‍यक्षता किसने की – महाकस्‍सप


    नागार्जुन कौन थे – बौद्ध दार्शनिक


    किस नगर में प्रथम बौद्ध संगीति/सभा आयोजित की गई थी – राजगृह


    आष्टांगिक मार्ग की संकल्‍पना, अंग है – धर्मचक्रप्रवर्तन सुत के विषयवस्‍तु का


    ‘मिलिंदपण्‍हो’ राजा मिलिंद और किस बौद्ध भिक्षु के मध्‍य संवाद के रूप में है – नागसेन


    महायान बौद्ध धर्म में बोधिसत्‍व अवलोकितेश्‍वर को और किस अन्‍य नाम से जानते हैं – पद्यपाणि


    बौद्ध धर्म तथा जैन धर्म दोनों ही विश्‍वास करते हैं कि – कर्म तथा पुनर्जन्‍म के सिद्धान्‍त सही हैं


    कनिष्‍क के शासनकाल में चतुर्थ बौद्ध संगीत/सभा किस नगर में आयोजित की गई थी – कुण्‍डलवन, कश्‍मीर


    तृतीय बौद्ध संगीति कहाँ आयोजित हुई – पाटलिपुत्र में


    गौतम बुद्ध का गुरू कौन था – आलार कलाम


    बुद्ध में वैराग्‍य भावना किन 4 दृश्‍यों के कारण बलवती हुई – बूढ़ा, रोगी, लाश, संन्‍यासी


    बुद्ध ने सर्वाधिक उपदेश कहाँ दिए – श्रावस्‍ती


    बौद्ध शिक्षा का केन्‍द्र था – विक्रमशिला


    भारत में सबसे बड़ा बौद्ध स्‍तूप कहाँ स्थित है – सांची


    किस शासक ने बौद्धों के लिए विख्‍यात विक्रमशिला विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना की थी – धर्मपाल


    किसके द्वारा तृतीय बौद्ध संगीति को संरक्षण प्रदान किया गया था – अशोक


    बौद्ध ग्रंथ ‘पिटको’ की रचना किस भाषा में की गई थी – पालि


    कश्‍मीर में कनिष्‍क के शासनकाल में जो बौद्ध संगीति आयोजित हुई थी उसकी अध्‍यक्षता किसने की थी – वसुमित्र


    मठ, मन्दिर और स्‍तूप किस धर्म से सम्‍बन्धित हैं – बौद्ध धर्म


    बौद्ध धर्म एवं जैन धर्म दोनों के उपदेश किसके शासनकाल में दिए गए थे – बिम्बिसार


    गौतम बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश कहाँ दिया था – सारनाथ


    बौद्ध धर्म ग्रहण करने वाली पहली महिला कौन थी – महाप्रजापति गौतमी


    बोधगया स्थित है – बिहार में


    ‘जातक’ किसका ग्रन्‍थ है – बौद्ध धर्म का 


    सिद्धार्थ (बुद्ध) को ज्ञान प्राप्ति कहाँ हुई थी – बोधगया में


    सारनाथ में बुद्ध का प्रथम प्रवचन कहलाता है – धर्मचक्रप्रवर्तन


    बौद्ध धर्म ने समाज के किन वर्गों पर महत्‍वपूर्ण प्रभाव डाला – महिला और शूद्र


    बुद्ध के गृह त्‍याग का प्रतीक है – घोड़ा


    गौतम बुद्ध द्वारा भिक्षुणी संघ की स्‍थापना कहाँ की गयी थी – कपिलवस्‍तु में


    सर्वप्रथम शून्‍यवाद (शून्‍यवाद का सिद्धान्‍त) का प्रतिपादन करने वाले बौद्ध दार्शनिक का नाम है – नागार्जुन


    किस शासक के शासनकाल में नेपाल में बौद्ध धर्म का गमन हुआ था – अशोक


    सांची क्‍यों विख्‍यात है – सबसे बड़ा बौद्ध स्‍तूप


    किस भाषा का ज्‍यादा प्रयोग बौद्धवाद के प्रचार के लिए किया गया है – पालि


    किसे ‘एशिया की रोशनी’ (The Light of Asia) कहा जाता है – गौतम बुद्ध को

    PRIMARY KA MANSTER WEELKY TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER MONTHLY TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER NOTICE

    नोट:-इस वेबसाइट / ब्लॉग की सभी खबरें google search व social media से लीं गयीं हैं । हम पाठकों तक सटीक व विश्वसनीय सूचना/आदेश पहुँचाने की पूरी कोशिश करते हैं । पाठकों से विनम्रतापूर्वक अनुरोध है कि किसी भी ख़बर/आदेश का प्रयोग करने से पहले स्वयं उसकी वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें । इसमें वेबसाइट पब्लिशर की कोई जिम्मेदारी नहीं है । पाठक ख़बरों/आदेशों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा ।