स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में झंडा फहराने में क्या है अंतर क्लिक कर जाने - प्राइमरी का मास्टर - UPTET | Primary Ka Master | Basic Shiksha News | Shiksha Mitra News
  • primary ka master

    LATEST PRIMARY KA MASTER - BASIC SHIKSHA NEWS TODAY


    Wednesday, 21 August 2019

    स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में झंडा फहराने में क्या है अंतर क्लिक कर जाने

    स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में झंडा फहराने में क्या है अंतर क्लिक कर जाने

    स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में झंडा फहराने में क्या है अंतर क्लिक कर जाने

    पहला अंतर


    15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर झंडे को नीचे से रस्सी द्वारा खींच कर ऊपर ले जाया जाता है, फिर खोल कर फहराया जाता है, जिसे ध्वजारोहण कहा जाता है क्योंकि यह 15 अगस्त 1947 की ऐतिहासिक घटना  को सम्मान देने हेतु किया जाता है जब प्रधानमंत्री जी ने ऐसा किया था। संविधान में इसे अंग्रेजी में Flag Hoisting (ध्वजारोहण) कहा जाता है।

    जबकि

    26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर झंडा ऊपर ही बंधा रहता है, जिसे खोल कर फहराया जाता है, संविधान में इसे *Flag Unfurling (झंडा फहराना)* कहा जाता है।

    दूसरा अंतर


    15 अगस्त के दिन प्रधानमंत्री जो कि केंद्र सरकार के प्रमुख होते हैं वो ध्वजारोहण करते हैं क्योंकि स्वतंत्रता के दिन भारत का संविधान लागू नहीं हुआ था और राष्ट्रपति जो कि राष्ट्र के संवैधानिक प्रमुख होते है, उन्होंने पदभार ग्रहण नहीं किया था। इस दिन शाम को राष्ट्रपति अपना सन्देश राष्ट्र के नाम देते हैं।

    जबकि

    26 जनवरी जो कि देश में संविधान लागू होने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है, इस दिन संवैधानिक प्रमुख राष्ट्रपति झंडा फहराते हैं

    ● तीसरा अंतर


    स्वतंत्रता दिवस के दिन लाल किले से ध्वजारोहण किया जाता है।

    जबकि

    गणतंत्र दिवस के दिन राजपथ पर झंडा फहराया जाता है।

    PRIMARY KA MANSTER WEELKY TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER MONTHLY TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER TOP NEWS

    PRIMARY KA MASTER NOTICE

    नोट:-इस वेबसाइट / ब्लॉग की सभी खबरें google search व social media से लीं गयीं हैं । हम पाठकों तक सटीक व विश्वसनीय सूचना/आदेश पहुँचाने की पूरी कोशिश करते हैं । पाठकों से विनम्रतापूर्वक अनुरोध है कि किसी भी ख़बर/आदेश का प्रयोग करने से पहले स्वयं उसकी वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें । इसमें वेबसाइट पब्लिशर की कोई जिम्मेदारी नहीं है । पाठक ख़बरों/आदेशों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा ।