यूपीसीईटी (UPCET) परीक्षा अब 15 जून को, कोरोना महामारी के कारण डेट बढ़ी - Exam Date Extend


प्रदेश के फॉर्मेसी, मैनेजमेंट व इंजीनियरिंग संस्थानों में दाखिले के लिए प्रस्तावित उत्तर प्रदेश कॉमन इंट्रेंस टेस्ट (यूपीसीईटी) की तिथि एक बार फिर बढ़ा दी गई। इस बार प्रवेश परीक्षा 15 जून को प्रस्तावित किया गया है। हालांकि यूपीसीईटी में बीटेक के साथ बीटेक बायोटेक और बीटेक एग्रीकल्चर कोर्स को शामिल कर दिया गया है। ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा का आयोजन देश भर के 61 शहरों में होगा। 



गौरतलब है कि सबसे पहले यूपीसीईटी 16 मई को प्रस्तावित किया गया था। पर, आवेदन देर से शुरू होने के कारण इसे बढ़ाकर 18 मई कर दिया गया। उधर, सीबीएसई ने अपने शिड्यूल में 18 मई को केमेस्ट्री और यूपी बोर्ड ने अंग्रेजी की परीक्षा प्रस्तावित कर दिया। नतीजतन यूपीसीईटी की तिथि को बढ़ाकर 8 जून प्रस्तावित कर दिया गया। 


इसी बीच देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते सीबीएसई व यूपी बोर्ड को अपनी परीक्षा टालनी पड़ी। इसके मद्देनजर यूपीसीईटी को अब 15 जून को प्रस्तावित किया गया है। पर, मौजूदा हालात में सुधार नहीं किया हुआ तो 15 जून को प्रवेश परीक्षा कराना आसान नहीं होगा। 


डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू) के प्रवेश समन्वयक प्रो. सुबोध वैरिया ने बताया कि बीटेक कॉमन व बीटेक बायोटेक और बीटेक एग्रीकल्चर की अहर्ता मिलती-जुलती है। इसलिए इन कोर्सों को भी यूपीसीईटी में शामिल कर आवेदन लिए जा रहे हैं। जिससे इन कोर्सों में भी प्रवेश दिया जा सके। 


गौरतलब है कि एकेटीयू से संबद्ध 28 संस्थानों में बीटेक बायोटेक और बीटेक एग्रीकल्चर के कोर्स संचालित हो रहे हैं। पर, विवि इस बार कोई दाखिला परीक्षा का आयोजन नहीं कर रहा है। ऐसे में अगर इन कोर्सों को यूपीसीईटी में शामिल नहीं किया जाता तो हजारों सीटों पर प्रवेश में दिक्कत होती। 

अभ्यर्थी अब 10 मई तक कर सकेंगे आवेदन
इस बार दाखिला प्रक्रिया लगभग एक माह देरी से शुरू हुई। इसके कुछ दिन बाद कोरोना संक्रमण भी तेजी से बढ़ने लगा। सूत्रों का कहना है कि ऐसे में यूपीसीईटी के लिए अपेक्षित आवेदन नहीं मिल पा रहे हैं। इसलिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 अप्रैल से बढ़ाकर 10 मई कर दी गई है। अभ्यर्थी इस दिन तक बिना विलंब शुल्क के एनटीए और एनआईसी की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।